COVID-19: जोश भरने के लिए इंदौर के अस्पताल ने लिया Music का सहारा, संगीत की धुन पर ताली बजाते नजर आए मरीज
Indore News in Hindi

COVID-19: जोश भरने के लिए इंदौर के अस्पताल ने लिया Music का सहारा, संगीत की धुन पर ताली बजाते नजर आए मरीज
कोरोना से मुकाबले में मनोबल बढ़ाने को संगीत का सहारा ले रहा इंदौर का हॉस्पिटल (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अस्पताल अधीक्षक ने कहा कि म्यूजिक (Music) बजने से वॉर्ड में माहौल सकारात्मक और खुशनुमा बना रहता है और मरीजों के साथ ही अस्पताल के डॉक्टर (Doctor) तथा पैरामेडिकल कर्मी (Paramedical Staff) भी उत्साहित रहते हैं.

  • Share this:
इंदौर. वैश्विक महामारी (Pandemic) कोरोना (Coronavirus) के चलते देश में लगातार संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है. डॉक्टर्स व स्वास्थ्यकर्मी जी-जान से लोगों की सेवा में जुटे हैं. कोविड-19 (COVID-19) के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल मध्य प्रदेश के इंदौर (Indore) के एक अस्पताल में इस महामारी के संदिग्ध मरीजों (Corona suspect) के वॉर्ड का नजारा कुछ अलग है. ये मरीज इस वॉर्ड में बज रहे सुमधुर गीतों को एक साथ गुनगुनाते नजर आते हैं और इसके दृश्य सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहे हैं. ऐसा ही एक वीडियो बुधवार को सामने आया जिसमें ये मरीज वॉर्ड में बज रहे मशहूर गीत 'हम होंगे कामयाब...' को तालियां बजाते हुए एक साथ दोहरा रहे हैं.

Music Therapy से बढ़ा रहे मनोबल
इस बारे में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (Employee's State Insurance Corporation)(ईएसआईसी) के नंदा नगर स्थित अस्पताल की अधीक्षक सुचित्रा बोस ने बताया, 'हमने देखा है कि कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों के मन में इस महामारी को लेकर काफी डर बैठा होता है. जब तक उनकी जांच रिपोर्ट नहीं आ जाती, तब तक वे भयभीत और बेचैन बने रहते हैं. उन्होंने बताया हम दिशा-निर्देशों के मुताबिक इन मरीजों को दवाएं तो दे ही रहे हैं. लेकिन हम उनका डर दूर कर मनोबल बढ़ाने के लिये संगीत चिकित्सा (Music Therapy) का भी सहारा ले रहे हैं. इसके तहत उन्हें भजन और प्रेरक गीत सुनाये जा रहे हैं.

अस्पताल अधीक्षक ने कहा कि संगीत बजने से वॉर्ड में माहौल खुशनुमा बना रहता है और मरीजों के साथ ही अस्पताल के डॉक्टर तथा पैरामेडिकल कर्मी भी उत्साहित रहते हैं. बोस ने बताया कि फिलहाल ईएसआईसी अस्पताल में कोरोना वायरस के 60 संदिग्ध मरीज हैं, जबकि 15 अन्य लोग जांच में इस महामारी से संक्रमित नहीं पाये जाने पर अपने घर लौट चुके हैं. उन्होंने बताया कि कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों को योग प्रशिक्षक के जरिये प्राणायाम (श्वसन तंत्र का खास व्यायाम) भी सिखाया जा रहा है ताकि उनके फेफड़े मजबूत हो सकें. अधिकारियों ने बताया कि पिछले एक महीने में इंदौर जिले के कुल 923 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये हैं. इनमें से 52 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है, जबकि 74 मरीजों को स्वस्थ होने पर अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है. इंदौर में कोरोना वायरस का पहला मरीज मिलने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है, जबकि जिले के अन्य स्थानों में सख्त लॉकडाउन लागू है. (इनपुट-भाषा)
ये पढ़ें- COVID-19 Update: इंदौर में अब तक 923 पॉजिटिव केस, MP में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 1587 हुई



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading