इंदौरः तिछा फॉल पर पहुंचे थे पिकनिक मनाने, तेज धार में अचानक बहने लगी कार, देखें Video

पुलिस की नजरें बचाकर घूमने पहुंचे युवक-युवती पानी की तेज धार में फंस गए.
पुलिस की नजरें बचाकर घूमने पहुंचे युवक-युवती पानी की तेज धार में फंस गए.

मध्य प्रदेश के इंदौर से सटे टूरिस्ट स्पॉट पर इन दिनों सैलानी बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं. इन जगहों पर पुलिस की सतर्कता के बावजूद बीते दिनों तिछा फॉल के पास सैलानियों की कार पानी की तेज धार में बहते-बहते बची. इस घटना का Video सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

  • Share this:
इंदौर. लॉकडाउन के दौरान पर्यटक स्थलों पर सैलानियों (Tourist) की आवाजाही पर रोक लगी थी. लेकिन अनलॉक (Unlock) होते ही इन स्थानों पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचने लगे हैं. मध्य प्रदेश के इंदौर शहर (Indore) से सटे प्राकृतिक स्थलों पर भी सैलानियों की भीड़ खूब देखी जा रही है. इसी क्रम में बीते दिनों तिछा फॉल (Tichha Fall) के पास एक हादसा होते-होते बच गया. दरअसल, शनिवार की शाम बारिश के बाद तिछा फॉल के पास जगह-जगह जलजमाव हो गया था. इसके मद्देनजर पुलिस ने स्थानीय लोगों और सैलानियों के यहां आने पर पाबंदी लगा दी थी. इसके बावजूद कुछ सैलानी चोरी छिपे झरने की ओर निकल गए.

पुलिस की नजरें बचाकर कुछ युवक और युवतियां अपनी कार से झरने की ओर आगे ही बढ़े थे कि उनकी कार एक नाले में  जाकर फंस गई. नाले में पानी का बहाव इतना तेज था कि देखते ही देखते पानी कार के अंदर जाने लगा और कार भी बहने लगी. कुछ दूर तक बहने के बाद एक स्थान पर कार अटक गई. इसी दौरान आसपास के लोगों की नजर जब कार पर पड़ी तो वे लोगों को बचाने दौड़ पड़े.

स्थानीय लोगों ने बताया कि कार में कुछ युवक और युवती तिछा फॉल घूमने आए थे. पुलिस की मनाही के बाद भी वे लोग दूसरे रास्ते से जा रहे थे. इसी बीच उनकी कार नाले के पानी में फंस गई. पानी की तेज धार में फंसे सैलानियों को देख कुछ ग्रामीणों ने हिम्मत दिखाई और पर्यटकों को कार के गेट खुलवाकर बाहर निकाला. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.




इधर, कम्पेल चौकी प्रभारी विश्वजीत सिंह तोमर ने घटना के बारे में बारे में बताया कि शनिवार को एक वाहन तिछा फॉल के समीप पानी में फंस गया था, जिसे ग्रामीणों ने सूझ-बूझ से निकाल लिया. कार में सवार चारों युवक-युवती इंदौर के रहने वाले थे. पुलिस ने सभी को हिदायत देकर इंदौर रवाना कर दिया. तोमर ने बताया कि अगर गांव वालों ने हिम्मत नहीं दिखाई होती, तो बड़ा हादसा हो सकता था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज