Indore: जिसका फोटो दिखाओ वो हथियार बनाते थे ये तस्कर, हरदा और दतिया में खपाते थे माल

इंदौर में दो तस्कर क्राइम ब्रांच के हाथ लगे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौर में दो तस्कर क्राइम ब्रांच के हाथ लगे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौर क्राइम ब्रांच को लगातार शिकायत मिल रही थी कि शहर के कई इलाकों में एक गैंग सक्रिय है. यह गैंग हथियार के साथ कारतूसों की तस्करी कर रही है. इस सूचना के बाद पुलिस ने कई इलाकों में जाल फैलाया और अपने खबरी एक्टिव किए.

  • Last Updated: January 29, 2021, 5:13 PM IST
  • Share this:
इंदौर. इंदौर क्राइम ब्रांच ने हथियार तस्करों की एक गैंग के 2 सदस्यों को गिरफ्तार किया है. पुलिस को उनके कब्जे से बड़ी संख्या में हथियार और जिंदा कारतूस मिले हैं. पुलिस आरोपियो से पूछताछ कर रही है. ये इतने शातिर हैं कि फोटो दिखाने पर किसी भी तरह का हथियार बनवा सकते हैं. इनमें से एक पेंटर और एक ढाबा संचालक है.

गौरतलब है कि इंदौर क्राइम ब्रांच को लगातार शिकायत मिल रही थी कि शहर के कई इलाकों में एक गैंग सक्रिय है. यह गैंग हथियार के साथ कारतूसों की तस्करी कर रही है. इस सूचना के बाद पुलिस ने कई इलाकों में जाल फैलाया और अपने खबरी एक्टिव किए. आरोपियों की टिप मिलते ही पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया.इनके कब्जे से 80 से अधिक ज़िंदा कारतूस और 2 रिवाल्वर जब्त हुई. एक आरोपी दतिया और एक हरदा का रहने वाला है बताया जा रहा है. पुलिस अब आरोपियों से पूछताछ कर यह जानकारी जुटा रही है कि यह कारतूस और हथियार कहां खपाने जा रहे थे.

Youtube Video


कई अपराध हैं आरोपियों के नाम
जानकारी के मुताबिक, शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि आरोपी बुराहनपुर के एक सिकलीगर से हथियार खरीदते थे. इन हथियारों को हरदा और दतिया में खपा देते थे. दोनों ही आरोपियों पर पूर्व मे भी कई आपराधिक रिकार्ड हैं. एक आरोपी मूलतः पेंटर और दूसरा ढाबे का काम करता है. दोनों अपने मूल काम की आड़ में हथियार तस्करी का काम करते थे.

डील होने पर देते थे हथियार

इंदौर आईजी हरिनारायण मिश्र ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में दावा किया है कि वह खरीददारों को मोबाइल पर फोटो दिखाते थे और डील डन होने पर हूबहू हथियार बनवाकर डिलीवरी करने जाते थे. इतना ही नहीं फोटो दिखाने पर किसी भी तरह का हथियार बनवा कर वह डिलीवर कर दिया करते थे. बहरहाल पुलिस अब उस आरोपी की तलाश कर रही है जो इन्हें हथियार सप्लाय करता था.



शहर के दुकानदारों का रिकॉर्ड खंगाल रही पुलिस

पुलिस को जानकारी मिली है कि आरोपी लायसेंसी दूकान से महंगे दामों पर कारतूस खरीदते थे. पुलिस अब शहर के दुकानदारों के रिकॉर्ड खंगालने का दावा  कर  रही है. आईजी के मुताबिक, इंदौर क्राइम ब्रांच पिछले लम्बे समय से हथियार तस्करों पर कार्रवाई कर रही है. बीते सालो में सर्वाधिक 500 से अधिक हथियार पकड़ने का रिकॉर्ड इंदौर क्राइम ब्रांच के नाम पर ही है. जानकारी के मुताबिक, पुलिस को छापेमारी में अक्सर सिर्फ हथियार ही लगते थे, तस्कर निकल जाते थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज