RBI के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा, बाप-बेटे गिरफ्तार

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के नाम का दुरुपयोग कर ऑनलाइन ठगी (ONLINE FRAUD) को अंजाम देने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए मध्यप्रदेश पुलिस के साइबर दस्ते ने बुधवार को पिता-पुत्र को नयी दिल्ली से धर दबोचा.

भाषा
Updated: September 4, 2019, 8:28 PM IST
RBI के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा, बाप-बेटे गिरफ्तार
मध्य प्रदेश साइबर सेल की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह ने पत्रकारों को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में ठगी का कॉल सेंटर चलाने वाले आरोपियों की पहचान अभिषेक दीवान (28) और हरीश दीवान (53) के रूप में हुई है.
भाषा
Updated: September 4, 2019, 8:28 PM IST
इंदौर. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के नाम का दुरुपयोग कर ऑनलाइन ठगी (ONLINE FRAUD) को अंजाम देने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए मध्यप्रदेश पुलिस के साइबर दस्ते ने बुधवार को पिता-पुत्र को नयी दिल्ली से धर दबोचा.

NCR में चलाते थे कॉल सेंटर
मध्य प्रदेश साइबर सेल की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह ने पत्रकारों को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में ठगी का कॉल सेंटर चलाने वाले आरोपियों की पहचान अभिषेक दीवान (28) और हरीश दीवान (53) के रूप में हुई है. पिता-पुत्र पर उस ऑनलाइन ठगी गिरोह से जुड़े होने का आरोप है जो आरबीआई के नाम का दुरुपयोग कर देश भर में लोगों से ठगी कर रहे हैं.

सिंह ने बताया, 'इस तरह की ऑनलाइन ठगी के एक मामले की हम जांच कर रहे हैं. इसमें गिरोह ने नजदीकी शहर उज्जैन के निवासी प्रमोद कुमार को झांसा देकर ठगी की कि आरबीआई की एक योजना के तहत उन्हें 1.68 करोड़ रुपये के लाभ के लिये चुना गया है. लेकिन यह लाभ हासिल करने के लिये उन्हें स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) के रूप में सरकारी खजाने में राशि जमा करनी होगी.'

उन्होंने बताया, 'ठग गिरोह से जुड़ी एक युवती ने कुमार को फोन कर कहा कि वह आरबीआई गवर्नर के निजी स्टाफ में शामिल है. इस लड़की ने केंद्रीय बैंक की फर्जी योजना का लाभ दिलाने के नाम पर उनसे अलग-अलग बैंक खातों में धनराशि जमा करायी.'

कई सालों से जारी गोरखधंधा
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरोह के अलग-अलग लोगों ने कुमार को वर्ष 2014 से 2018 के बीच लगातार फोन किये और उनसे 24 बार में कुल 23.62 लाख रुपये जमा करा लिये. जब जमाकर्ता को अपने ठगे जाने का एहसास हुआ, तो उसने आखिरकार साइबर पुलिस की शरण ली.
Loading...

सिंह ने बताया कि ठग गिरोह के एक प्रमुख सदस्य और खुद को आरबीआई गवर्नर के निजी स्टाफ की सदस्य बताने वाली युवती की तलाश जारी है. साइबर पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है.
ये भी पढ़ें:

भोपाल में हवाला कारोबार: कार में बना रखे थे लॉकर, मुंबई भेजे जा रहे थे 4 करोड़ रुपए

PCC अध्यक्ष की रेस से आउट हुए सिंधिया! कमलनाथ के पास ही रहेगी कमान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 8:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...