अपना शहर चुनें

States

इंदौर में बड़ी लापरवाही, Corona Positive दो नर्सें कर रही थीं ड्यूटी, गर्भवती महिला के ऑपरेशन में भी हुईं शामिल

सोमवार दोपहर तक शहर में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर लगभग 10 प्रतिशत के स्तर पर थी. (सांकेतिक फोटो)
सोमवार दोपहर तक शहर में कोविड-19 के मरीजों की मृत्यु दर लगभग 10 प्रतिशत के स्तर पर थी. (सांकेतिक फोटो)

COVID-19: इंदौर के एमवाय अस्पताल में कार्यरत दो नर्सें कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मिली हैं. एक नर्स एक महिला के ऑपरेशन में भी शामिल थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 14, 2020, 9:44 AM IST
  • Share this:
इंदौर. देशभर में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने को लेकर सतर्कता बरती जा रही है. केंद्र से लेकर राज्‍य सरकार तक ने लॉकडाउन की घोषणा कर रखी है. मध्य प्रदेश में भी कोरोना का कहर जारी है. खासकर इंदौर जहां पर लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. वहीं, इसी शहर से एक ऐसी लापरवाही का मामला सामने आया है, जिसने एक बार फिर कई जानों को मुश्किल में डाल दिया है. इंदौर के एमवाय अस्पताल के गायनी विभाग में कार्यरत दो नर्सें कोरोना पॉजिटिव मिली हैं. चौंकाने वाली बात ये है कि दोनों ही खुद की रिपोर्ट आने के कुछ देर पहले तक ड्यूटी पर थीं और इस दौरान एक गर्भवती महिला के सिजेरियन में भी शामिल थीं. अब दोनों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

ऑपरेशन में डॉक्टर के साथ
जानकारी में सामने आया है कि दोनों कोरोना पॉजिटिव नर्स एक गर्भवती महिला के ऑपरेशन में भी शामिल थीं. अब उस महिला और नवजात को भी संक्रमण का खतरा हो गया है. इसके साथ ही वे अस्‍पताल में भर्ती अन्य मरीजों और नवजात के संपर्क में भी रहीं. वहीं अस्पताल के स्टाफ और डॉक्टरों को भी इनके संपर्क में रहने से अब संक्रमण का खतरा बढ़ गया है. अस्पताल के स्त्री रोग विभागाध्यक्ष डॉ. नीलेश दलाल ने इसकी पुष्टि की. बताया जा रहा है कि अब एमवायएच के कर्मचारी जो इनके संपर्क में आए थे, उन्हें क्वारेंटाइन किया जा रहा है और उनकी भी जांच होगी. साथ ही जिन मरीजों के संपर्क में ये आई थीं, उन्हें भी चिन्हित किया जा रहा है.

अस्‍पताल प्राासन की लापरवाही
इस पूरे प्रकरण के सामने आने के बाद अस्पताल प्रशासन की लापरवाही सामने आ रही है. दोनों नर्सों के हाल ही में सैंपल लिए गए थे. इसके बाद भी दोनों को क्वारेंटाइन करने की जगह ड्यूटी पर लगाया गया. इस मामले अस्पताल प्रशासन और डॉक्टर भी पड़ताल के नाम पर पल्ला झाड़ते दिखे. डॉ. नीलेश ने कहा कि जांच रिपोर्ट आने के बाद ही पता चला कि वे कोरोना संक्रमित हैं. उन्होंने कहा कि नर्सों की ड्यूटी नर्सिंग विभाग लगाता है और अब मामले की पड़ताल की जा रही है.



महिला डॉक्टर भी मिली थी संक्रमित
गौरतलब है कि पिछले दिनों स्त्री रोग विभाग की ही एक महिला रेसिडेंट डॉक्टर में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया था. इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराते हुए कुछ डॉक्टरों और नर्सों को पृथक वास केंद्रों में भेजा गया था.

इनपुटः अरुण त्रिवेदी

ये भी पढ़ेंः Covid-19 Update: MP में अबतक कोरोना पॉजिटिव के मिले 652 केस, 50 की हो चुकी मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज