लाइव टीवी

कमलनाथ सरकार दबाव में है, हनी ट्रैप में लिप्त अफसरों को हम करेंगे बेनकाब: कैलाश विजयवर्गीय

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 10, 2019, 6:13 PM IST
कमलनाथ सरकार दबाव में है, हनी ट्रैप में लिप्त अफसरों को हम करेंगे बेनकाब: कैलाश विजयवर्गीय
हनी ट्रैप मामले को लेकर कैलाश विजयवर्गीय का कांग्रेस पर हमला

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने हनी ट्रैप मामले को लेकर राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि हनी ट्रैप मामले में प्रदेश के बड़े अधिकारी भी शामिल हैं, सरकार इनके नाम सामने नहीं लाएगी लेकिन वो इन अफसरों को जरूर बेनकाब करेंगे.

  • Share this:
इंदौर. हनी ट्रैप (Honeytrap) मामले में बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बयान ने प्रदेश की राजनीति में हड़कंप मचा दिया है. उन्होंने इंदौर में जीतू सोनी पर हुई कार्रवाई को लेकर कहा कि मध्य प्रदेश की सरकार अधिकारियों की उंगलियों पर नाच रही है. हनी ट्रैप में बड़े अधिकारी (Bureaucrats) संलिप्त हैं और अपने आपको बचाने के लिए इस प्रकार के धमाके कर रहे हैं. कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि हनी ट्रैप में फंसे अधिकारियों को सरकार नहीं, हम बेनकाब करेंगे.

मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का पलटवार
कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर पलटवार करते हुए पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि कमलनाथ किसी के इशारों पर नहीं नाचते. अफसरों को भी उनसे बात करने से पहले सोचना पड़ता है. बीजेपी मिथ्या आरोप लगा रही है. उन्होंने कहा कि, 'जहां तक हनीट्रैप की बात है, ये बीजेपी सरकार के समय का तंत्र है. इसमें पकड़ी गई एक महिला तो बीजेपी से टिकट भी मांग रही थी और बीजेपी के कुछ नेता उसे टिकट दिलाने की पैरवी भी कर रहे थे, ऐसे में चेहरे तो उनके सामने आएंगे, जिनके समय का ये मामला है. हमारी सरकार को कल भी कोई खतरा नहीं था, आज भी कोई खतरा नहीं है. जिस दिन ये चेहरे उजागर होंगे, आपको खुद पता लग जाएगा कि इसमें भारतीय जनता पार्टी के कितने लोग हैं.'

कैलाश विजयवर्गीय से मदद मांगी

जीतू सोनी के होटलों में काम करने वाले म्यूजिशियन और वेटरों पर मानव तस्करी के मामले दर्ज किए गए हैं. इन लोगों के परिजनों ने मंगलवार को बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से मुलाकात की. इन लोगों का कहना है कि वो सिर्फ अपना परिवार चलाने के लिए जीतू सोनी के होटल और बार में काम करते थे. अनैतिक गतिविधियों से उनका कोई लेना देना नहीं है. इन लोगों ने कैलाश विजयवर्गीय से मदद की अपील भी की. वहीं कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि 'होटल माय होम' मामले में पुलिस-प्रशासन ने गरीब आर्केस्ट्रा वाले और वेटरों पर मानव तस्करी के केस दर्ज किए हैं, जबकि उनका इसमें कोई हाथ ही नहीं है.

ये भी पढ़ें - भोपालः सरकारी स्कूल से युवक की लाश बरामद, गले में जंजीर बांध जलाने की आशंका
वॉंटेड जीतू सोनी का अंडरवर्ल्ड से कनेक्शन ! अब तक 37 FIR दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 4:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर