MP की जेलों में सौ फीसदी कैदियों को लगा कोरोना वैक्सीन, सरकार ने HC में पेश किया जवाब

कोरोना के 38 दिनों में करीब 8 हजार नये कैदी यहां पहुंचे.

Jabalpur. प्रदेश की जेलों (Jails) में कुल 28, 675 कैदी रखने की क्षमता है. लेकिन 7 मई 2021 की स्थिति में प्रदेशभर की जेलों में 45,582 कैदी बंद थे.

  • Share this:
जबलपुर. कोरोना की लहर में पैरोल के बाद भी मध्य प्रदेश की जेलों (Jail) में क्षमता से ज़्यादा कैदी बंद हैं. राहत की बात ये है कि जेलों में शत प्रतिशत वैक्सिनेशन (Vaccination) हो चुका है. प्रदेश भर की जेलों में बंद सभी कैदियों को एंटी कोरोना वैक्सीन लगाया जा चुका है. ये जानकारी प्रदेश शासन ने हाईकोर्ट में दी.

अपनी क्षमता से अधिक कैदियों से भरी मध्य प्रदेश की जेलें महामारी में पैरोल की सौगात के बाद भी खाली नहीं हो सकीं. अगर बात करें पिछले 38 दिनों की तो तमाम जेलों में 7945 नए कैदी आ चुके हैं.

28,675 की जगह 45,582 कैदी
यह चौंकाने वाला आंकड़ा प्रदेश सरकार की ओर से पेश की गई स्टेटस रिपोर्ट से हुआ है. जबलपुर हाईकोर्ट में दायर एक याचिका पर चीफ जस्टिस की डिवीजन बेंच सुनवाई कर रही है. यह याचिका प्रदेश की जेलों क्षमता और उनमें बंद कैदियों के बारे में है. मामले में अदालत मित्र की भूमिका निभा रहे अधिवक्ता संकल्प कोचर ने बताया कि प्रदेश भर की जेलों की कुल क्षमता 28, 675 कैदी रखने की है. लेकिन 7 मई 2021 की स्थिति में प्रदेशभर की जेलों में 45,582 कैदी बंद थे. इस क्षमता को कम करने के लिए हाईकोर्ट के निर्देश पर हाई पावर कमेटी बनायी गयी थी जो कैदियों को अलग-अलग श्रेणियों में महामारी पैरोल पर छोड़ने के दिशा निर्देश पर काम कर रही थी.  1 मई 2021 से लेकर 9 जून 2021 तक 7945 नए कैदी जेलों में आ गए. ये वो समय था जब प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर तांडव मचा रही थी. लेकिन उस दौरान भी प्रदेश में अपराध कम नहीं हुए. ऐसे में उन तमाम प्रयासों पर पानी फिर गया जिसके कारण जेलों की क्षमता को कम करने की दिशा में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट, प्रदेश सरकार और स्टेट ज्यूडिशल एकेडमी काम कर रही थी.

38 दिन में 8000 नये कैदी
यह आंकड़ा दर्शाता है कि मध्य प्रदेश में अपराधों का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है. यही वजह है कि 38 दिन के भीतर हजारों आपराधिक मामलों में तकरीबन 8000 नए कैदी जेलों में आ गए. वहीं इस बीच एक अच्छी खबर यह भी आई जिसमें सरकार ने अदालत को बताया है कि प्रदेश भर की जेलों में बंद कैदियों में 100 फीसदी वैक्सीनेशन किया जा चुका है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.