• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • जबलपुर में बढ़ा संक्रमण का खतरा, दो महीने में सामने आए 2 लाख मरीज, जानिए क्या है हालत

जबलपुर में बढ़ा संक्रमण का खतरा, दो महीने में सामने आए 2 लाख मरीज, जानिए क्या है हालत

एमपी के जबलपुर में अलग-अलग बीमारियों से संक्रमित दो लाख मरीज सामने आए हैं.

एमपी के जबलपुर में अलग-अलग बीमारियों से संक्रमित दो लाख मरीज सामने आए हैं.

Madhya Pradesh: जबलपुर से चौंकाने वाली खबर आई है. यहां लोगों में संक्रमण बढ़ता जा रहा है. जिले मे अब तक बुखार के 2 लाख मरीज सामने आ चुके हैं. ये खुलासा मलेरिया विभाग के सर्वे के बाद सामने आया. ये आंकड़ा पिछले 2 महीनों का है. साल का आंकड़ा करीब ढाई लाख से ज्यादा है.

  • Share this:

जबलपुर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर (Jabalpur) से बड़ी खबर है. यहां लोगों पर संक्रमण का खतरा बढ़ गया है. जिले मे अब तक बुखार के 2 लाख मरीज सामने आ चुके हैं. ये चौंकाने वाला खुलासा जबलपुर के मलेरिया विभाग के सर्वे में हुआ है. ये आंकड़ा पिछले 2 महीनों का है. साल का आंकड़ा करीब ढाई लाख से ज्यादा है.

गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद संक्रमण की चपेट में आया शहर लगातार इसकी जकड़ में कसता जा रहा है.  डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया और मिस्ट्री फीवर ने आम लोगों की परेशानी बढ़ा दी है. आंकड़ों की बात करें तो डेंगू का आंकड़ा करीब 600 के करीब है, जबकि चिकनगुनिया के 67 मरीज सामने आ चुके हैं. मौसमी समेत मच्छर जनित इन बीमारियों ने सरकारी अस्पतालों और निजी अस्पतालों के हाल बद से बदतर कर दिए हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी अस्पताल में बेड खाली नहीं है.

फर्श पर इलाज कराने को मजबूर लोग

हालात ये हैं कि सरकारी अस्पतालों में तो मरीज फर्श पर लेट कर इलाज कराने मजबूर हैं. गंभीर बात ये है कि बीमारियों से सबसे ज्यादा पीड़ित 6 माह से लेकर 14 वर्ष की उम्र के बच्चे हैं. इन दो लाख मरीजों में एक बड़ी संख्या उन मरीजों की भी है जिनमें डेंगू नेगेटिव पाया गया है. लेकिन, उनकी प्लेटलेट बड़ी मात्रा में घट रही है. डॉक्टर संक्रमण के दौर में आम लोगों को कुछ एहतियात बरतने की सलाह दे रहे हैं.

डेंगू ने देश में पैदा की चिंता

गौरतलब है कि देश में डेंगू बुखार का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. देश के कई राज्‍यों में डेंगू के मरीज बड़ी संख्‍या में अस्‍पतालों में पहुंच रहे हैं. सौ से ज्‍यादा बच्‍चों और बड़ों की मौत ने इस बीमारी को लेकर चिंता पैदा कर दी है. हालांकि डेंगू के मामलों के दौरान इस बार एक नया ट्रेंड दिखाई दे रहा है. विशेषज्ञों का कहना है कि डेंगू बुखार से ज्‍यादा खतरनाक इस समय डेंगू से ही संबंधित दो बीमारियां साबित हो रही हैं. यही वजह है कि इस बार ये बीमारी जानलेवा है और मरीजों की मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है.

एसएन मेडिकल कॉलेज आगरा में डेंगू के नोडल अधिकारी बनाए गए प्रोफेसर मृदुल चतुर्वेदी ने न्‍यूज18 हिंदी से बातचीत में बताया कि डेंगू के जो मामले आ रहे हैं उनमें देखा गया है कि डेंगू बुखार से लोगों या बच्‍चों की जान नहीं गई बल्कि डेंगू की अगली स्‍टेज या कहें कि डेंगू संबंधित दोनों बीमारियां डेंगू शॉक सिन्‍ड्रोम (Dengue Shock Syndrome) और डेंगू हैमरेजिक फीवर (Dengue Hemorrhagic Fever) ज्‍यादातर मौतों के लिए जिम्‍मेदार हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज