सुरक्षा संस्थान से AK 47 की तस्करी में शामिल थी जबलपुर की ये महिला

इस रैकेट का ख़ुलासा 29 अगस्त को हुआ था जब मुंगेर पुलिस ने इमरान नाम के आरोपी को गिरफ़्तार कर उससे AK 47 की 3 रायफल बरामद की थीं. इमरान ने पूछताछ में पुरुषोत्तम का नाम लिया.

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 8, 2018, 4:59 PM IST
सुरक्षा संस्थान से AK 47 की तस्करी में  शामिल थी जबलपुर की ये महिला
AK 47 तस्करी
News18 Madhya Pradesh
Updated: September 8, 2018, 4:59 PM IST
जबलपुर के सुरक्षा संस्थान से AK47 तस्करी के मामले में अब पुरुषोत्तम की पत्नी चंद्रवती को भी जेल भेज दिया गया है. सुरक्षा संस्थान का रिटायर्ड शस्त्रसाज़, पुरुषोत्तम इस केस का मुख्य आरोपी और सप्लायर है. तस्करी के इस खेल में अब तक कुल 7आरोपी पकड़े जा चुके हैं. इनमें से 4 जबलपुर में और 3 बिहार में गिरफ़्तार किए गए.

तस्करी के इस पूरे रैकेट में बिहार के मुंगेर से दो और आरोपी नियाज़ुल हसन और शमशेर भी पकड़ लिए गए हैं. AK47 तस्करी केस में जबलपुर पुलिस को इन दोनों की तलाश थी. दोनों के कब्ज़े से 3 AK 47 रायफल ज़ब्त की गयी हैं. इस रैकेट का ख़ुलासा 29 अगस्त को हुआ था जब मुंगेर पुलिस ने इमरान नाम के आरोपी को गिरफ़्तार कर उससे AK 47 की 3 रायफल बरामद की थीं. इमरान ने पूछताछ में पुरुषोत्तम का नाम लिया. बस उसके बाद इस पूरे रैकेट की कड़ियां जुड़ती गयीं और एसटीएफ एक-के-बाद एक ख़ुलासे करती गयी.

ये भी पता चला है कि इस केस का एक अन्य आरोपी सुरेश ठाकुर ने जुलाई में COD फैक्ट्री से 12 AK 47 रायफल सप्लाई की थीं. बिहार और जबलपुर एसटीएफ उनमें से अब तक 6 AK47 रायफल ज़ब्त कर चुकी है. तस्करी के इस खेल में अब तक 7 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. इनमें से 4 आरोपी जबलपुर और 3 बिहार के मुंगेर में पकड़े गए.

जबलपुर एसपी अमित सिंह के मुताबिक 29 अगस्त को मुंगेर में पकड़े गए आरोपी इमरान के ज़रिए इस खेल का ख़ुलासा हुआ. पूछताछ में जिस तरह इमरान ने पुरुषोत्तम रजक का नाम लिया था उसके बाद से ही जबलपुर पुलिस अलर्ट मोड में आ गई. (जबलपुर से प्रतीक मोहन अवस्थी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - जबलपुर आर्मी बेस से जुड़े AK 47 तस्करी के तार! सेना के साथ IB-पुलिस करेगी जांच

आतंकवादियों से जुड़े हो सकते हैं एके-47 के अंतरराज्यीय तस्करों के तार
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर