जबलपुर में ऑटो चालक की पिटाई ने पकड़ा तूल तो एक्टिव हुई पुलिस, 2 आरोपी गिरफ्तार

इस मामले को लेकर राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने भी जबलपुर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाया है.
इस मामले को लेकर राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने भी जबलपुर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाया है.

जबलपुर (Jabalpur) में लोडिंग ऑटो चालक से मारपीट का वीडियो वायरल (Auto driver viral video) होने और मामले के तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया. मुख्य आरोपी समेत दो लोग अब भी पुलिस की गिरफ्त से हैं आजाद.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 12:45 PM IST
  • Share this:
जबलपुर. मध्य प्रदेश की संस्कारधानी के रूप में पहचाने जाने वाले जबलपुर (Jabalpur) में ऑटो ड्राइवर को बुरी तरह से पीटने का मामला तूल पकड़ता देख पुलिस अब एक्टिव हो गई है. बीते दिनों स्कूटी सवार लड़की के परिजनों ने एक लोडिंग ऑटो के ड्राइवर को सरेआम बुरी तरीके (Auto driver viral video) से पीटा था. आरोपियों की पिटाई से जब ऑटो ड्राइवर बेसुध हो गया तब आरोपी ही उसे थाने लेकर पहुंचे. लेकिन पुलिस ने 6 घंटे तक मामला दर्ज नहीं किया. इस बीच जब ऑटो ड्राइवर को बर्बर तरीके से पीटे जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा, तो राजनीतिक दल भी मामले को लेकर सवाल उठाने लगे. इसके बाद जबलपुर पुलिस एक्टिव हुई. आज पुलिस ने मामले के दो आरोपियों अक्षय और मनोज दुबे को गिरफ्तार कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक जबलपुर में लोडिंग ऑटो ने एक स्कूटी सवार लड़की को टक्कर मार दी थी. इसके बाद लड़की ने फोन कर अपने परिजनों को बुला लिया. लड़की के परिजनों ने ऑटो चालक के साथ बुरी तरीके से पिटाई की. इसके बाद आरोपी ही ऑटो ड्राइवर को लेकर थाने पहुंचे, जहां वह लगभग 6 घंटे तक बेसुध पड़ा रहा. बताया गया कि पुलिस आरोपियों के बजाये ऑटो चालक को ही हवालात में बंद किए रही. इधर, जबलपुर में भरे बाजार मारपीट किए जाने की घटना का वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायर होने लगा, तो सनसनी फैल गई. पुलिस के आला अधिकारी अलर्ट हो गए.

स्कूटी सवार लड़की ने भी एफआईआर दर्ज कराई थी
इससे पहले आरोपियों की तरफ से स्कूटी सवार लड़की ने भी एफआईआर दर्ज कराई थी. लेकिन ऑटो ड्राइवर से मारपीट का वीडयो वायरल होने के बाद जबलपुर के एसपी ने पीड़ित की सुनवाई का आदेश दिया. इसके बाद पुलिस ने पीड़ित के बयान के आधार पर कार्रवाई शुरू की. मंगलवार को जबलपुर पुलिस ने पीड़ित के बयान के आधार पर दो आरोपियों अक्षय और मनोज दुबे को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक घटना के मुख्य आरोपी अभिषेक दुबे और चंदन नाम के आरोपी अब भी फरार हैं.
ऑटो चालक को 10 हजार रुपए इलाज के लिए दिए जाएंगे


इधर, इस मामले को लेकर राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने भी जबलपुर पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाया. राज्यसभा सांसद ने ऑटो चालक से मारपीट की वारदात पर ट्वीट कर बदमाशों की हिमाकत पर आक्रोश जताया. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, 'कौन हैं यह दरिंदे इस तरह से ऑटो या किसी को भी मारने का अधिकार इन्हें किसने दिया. एक्सीडेंट होने पर भी ऐसा व्यवहार मंजूर नहीं. यह छूट गुंडागर्दी ही है. मेरी तरफ से ऑटो चालक को 10 हजार रुपए इलाज के लिए दिए जाएंगे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज