Home /News /madhya-pradesh /

ban on export of straw and fodder collector ilaiya raja t issued the order

मध्य प्रदेश के इस जिले में भूसे और चारे के निर्यात पर लगी रोक, पढ़िए पूरी खबर

Ban on export of straw. गर्मी में चारे और भूसे की कमी को देखते हुए कलेक्टर इलैया राजा टी ने प्रतिबंध का आदेश जारी किया है.

Ban on export of straw. गर्मी में चारे और भूसे की कमी को देखते हुए कलेक्टर इलैया राजा टी ने प्रतिबंध का आदेश जारी किया है.

Jabalpur ki Taza Khabar. जबलपुर कलेक्टर इलैया राजा टी ने भूसे के निर्यात पर बैन लगा दिया है. उन्होंने जबलपुर जिले की सीमा के बाहर पशु चारा और भूसा के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी कर दिया है. कलेक्टर ने यह आदेश मध्य प्रदेश पशु चारा निर्यात नियंत्रण नियम 2000 के अंतर्गत जारी किया है. कलेक्टर के इस आदेश के पीछे मंशा यही है कि गर्मी के इस मौसम में जिले में पशुओं के लिए चारे और भूसे की कमी न हो जाए.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर.जबलपुर में भूसे और चारे के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. गर्मी में चारे के संकट को देखते हुए  कलेक्टर ने इसका आदेश जारी कर दिया है. पशुपालकों की मांग पर ऐसा किया गया.

जबलपुर कलेक्टर का एक आदेश इन दिनों चर्चा में है. जबलपुर कलेक्टर इलैया राजा टी ने भूसे के निर्यात पर बैन लगा दिया है. उन्होंने जबलपुर जिले की सीमा के बाहर पशु चारा और भूसा के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी कर दिया है. कलेक्टर ने यह आदेश मध्य प्रदेश पशु चारा निर्यात नियंत्रण नियम 2000 के अंतर्गत जारी किया है. कलेक्टर के इस आदेश के पीछे मंशा यही है कि गर्मी के इस मौसम में जिले में पशुओं के लिए चारे और भूसे की कमी न हो जाए.

पशुपालकों की परेशानी समझी
आदेश से पता चलता है कि जिले में अभी जितना भूसा है और जितनी मांग है उसे देखते हुए पशुपालकों और संबंधित कृषि संगठनों ने जिले के बाहर  भूसे के निर्यात और परिवहन पर प्रतिबंध लगाने मांग उठाई थी. इसके साथ ही साथ गेहूं का भूसा वाइट कोल के रूप में उद्योग और ईंट के भट्टों को जलाने के लिए भी उपयोग किया जाता है. उसके निर्यात पर भी बैन लगाने की मांग की गई थी.

ये भी पढ़ें- इंदौर में शुरू हुआ MP का पहला ऑटो एक्सपो, यहां 400 की स्पीड में दौड़ेंगी वर्ल्ड क्लास गाड़ियां

…ताकि गर्मी में संकट न हो
गर्मी में चारे पानी की कमी होने लगती है. जिले में इसकी कमी होने से पशुपालकों को अन्य जिलों या बाहरी क्षेत्रों से महंगी दर पर भूसा और चारे मंगवाना पड़ता है. इसका सीधा असर आम जनता पर पड़ सकता है. फिलहाल जबलपुर जिले में दूध के दाम 62 रुपये प्रति लीटर हैं. गर्मी ये दाम और बढ़ सकते हैं. जिले में चारे का संकट खड़ा न हो इसलिए कलेक्टर इलैया राजा टी ने चारे के निर्यात पर बैन लगाया है.

Tags: Fodder scam, Jabalpur news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर