बड़ी खबर: मध्य प्रदेश में महंगी हो सकती है बिजली, 6 फीसदी से ज्यादा बढ़ सकते हैं दाम

सांकेतिक फोटो

Jabalpur-बिजली कंपनियों ने साल 2021-22 की इस टैरिफ याचिका में प्रदेश में बिजली के दाम 6.25 फीसदी बढ़ाने की मांग की थी जिस पर अब आयोग जल्द ही फैसला ले सकता है.

  • Share this:
जबलपुर. मध्यप्रदेश में बिजली के दाम 6.25 फीसदी तक बढ़ाए जा सकते हैं. जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur highcourt) ने साल 2021-22 में बिजली की दर तय करने पर लगी रोक हटा दी है. साथ ही हाईकोर्ट ने उस याचिका को भी खारिज कर दिया है जिस पर सुनवाई के बाद बिजली की दरें तय करने पर रोक लगाई गई थी.

इस मामले में टीकमगढ़ के एक वकील, निर्मल लोहिया ने जबलपुर हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. इसमें कहा गया था कि राज्य विद्युत नियामक आयोग ने बिजली के दाम बढ़ाने के खिलाफ याचिकाकर्ता की आपत्ति पर सुनवाई नहीं की. 16 मार्च 2021 को जबलपुर हाईकोर्ट ने अपना अंतरिम आदेश सुनाते हुए विद्युत नियामक आयोग को साल 2021-22 का टैरिफ आदेश सुनाने पर रोक लगा दी थी.

याचिका खारिज
मामले पर सुनवाई पूरी करते हुए आज हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाया. इसमें इस याचिका को खारिज कर दिया गया. हाईकोर्ट ने कहा नेचुरल जस्टिस का मतलब व्यक्तिगत सुनवाई नहीं है. हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा याचिकाकर्ता चाहें तो अपीलीय अधिकरण के सामने अपील कर सकते हैं और राज्य विद्युत नियामक आयोग को समय सीमा में टैरिफ याचिका पर अपना आदेश सुनाना चाहिए.

विद्युत नियामक आयोग स्वतंत्र
हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद विद्युत नियामक आयोग साल 2021-22 की टैरिफ याचिका पर फैसला सुनाने के लिए स्वतंत्र हो गया है. बिजली कंपनियों ने साल 2021-22 की इस टैरिफ याचिका में प्रदेश में बिजली के दाम 6.25 फीसदी बढ़ाने की मांग की थी जिस पर अब आयोग जल्द ही फैसला ले सकता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.