लाइव टीवी

'मैग्निफिसेंट मध्य प्रदेश' के आयोजन से पहले ही भाजपा और कांग्रेस में जुबानी जंग

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 4, 2019, 5:54 PM IST
'मैग्निफिसेंट मध्य प्रदेश' के आयोजन से पहले ही भाजपा और कांग्रेस में जुबानी जंग
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और एमपी के वित्त मंत्री तरुण भनोत. (फाइल फोटो)

इंदौर में 18 अक्टूबर को होने वाले 'मैग्निफिसेंट मध्य प्रदेश' (Magnificent Madhya Pradesh Summit) कार्यक्रम से पहले भाजपा नेता राकेश सिंह (Rakesh Singh) और प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भनोत (Tarun Bhanot) के बीच छिड़ी आरोप-प्रत्यारोप.

  • Share this:
जबलपुर. देश-विदेश के उद्योगपतियों का ध्यान मध्य प्रदेश की तरफ खींचने के लिए कमलनाथ (CM Kamalnath) सरकार आगामी 18 अक्टूबर को इंदौर में 'मैग्निफिसेंट मध्य प्रदेश' (Magnificent Madhya Pradesh Summit) कार्यक्रम कराने जा रही है. सरकार का लक्ष्य है कि इस कार्यक्रम के बहाने निवेशकों का ध्यान आकृष्ट कराया जाए, ताकि प्रदेश में व्यापार और रोजगार की (Investment & Employment) नई संभावनाएं पैदा हो सकें. लेकिन कार्यक्रम से पहले ही इसको लेकर सियासत शुरू हो गई है. प्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल भाजपा (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने जहां इस कार्यक्रम को निरर्थक बताया है. वहीं, कांग्रेस (Congress) सरकार के मंत्री भाजपा को उसके शासनकाल की याद दिलाते हुए तंज कस रहे हैं.

भाजपा अध्यक्ष ने किया हमला
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह (Rakesh Singh) ने 'मैग्निफिसेंट मध्य प्रदेश' कार्यक्रम के बहाने कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा है. राकेश सिंह ने कहा है, 'कांग्रेस सरकार की इस समिट (Magnificent Madhya Pradesh Summit) से कुछ हासिल नहीं होने वाला है. क्योंकि देश के उद्योगपतियों और निवेशकों को इस बात की जानकारी मिल चुकी है कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार आपसी कलह में घिरी हुई है. इसका कोई भविष्य नहीं है.' भाजपा नेता ने कार्यक्रम को लेकर आरोप लगाया, 'कांग्रेस की तेज नजर इस वक्त इंवेस्टमेंट (निवेश) पर है, लेकिन वह किसके लिए हो, यह 'अलग बात' है.'

वित्त मंत्री ने किया पलटवार

'मैग्निफिसेंट मध्य प्रदेश' को लेकर भाजपा नेता राकेश सिंह के दिए बयान पर कांग्रेस नेता और प्रदेश सरकार में वित्त मंत्री तरुण भनोत (Tarun Bhanot) ने पलटवार किया है. तरुण भनोत ने भाजपा को जवाब देते हुए कहा है, 'यह सरकार कोई 'मामा' की सरकार नहीं है, बल्कि कमलनाथ की सरकार है. बीते 15 वर्षों में प्रदेश में अरबों रुपए के एमओयू (MoU) साइन किए गए, लेकिन सब वादे झूठे रहे हैं. हमारी सरकार न कोई MoU साइन करने वाली है और न ही कोई झूठे आंकड़े पेश करेगी. हमारी सरकार 'मैग्निफिसेंट मध्य प्रदेश' कार्यक्रम के तहत प्रदेश में निवेश बढ़ाने और सिंगल विंडो क्लियरेंस पर जोर देगी.'

ये भी पढ़ें -

Honey Trap: आरोपी के पति ने कहा, हां मेरी पत्नी के हाई प्रोफाइल मंत्रियों से संबंध, लेकिन...
Loading...

MP के इस ज़िले के बच्चों में कुपोषण और बौनेपन की शिकायतें ज्यादा, NFHS रिपोर्ट में खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 5:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...