Jabalpur News:...जब कोरोना से डेथ होने के बाद भी 4 शिक्षक छात्र ट्रेनिंग करते रहे, जानें कैसे खुली पोल और क्‍या है मामला

कॉलेज के प्राचार्य ने मानवीय भूल बताकर कार्रवाई की बात कही है.

मध्‍य प्रदेश के जबलपुर (Jabalpur) में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. दरअसल यहां के प्रांतीय शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य ने कोरोना से डेथ होने के बावजूद चार लोगों को ट्रेनिंग में शामिल होने का प्रमाण पत्र जारी कर दिया. इसके बाद न सिर्फ बवाल मच रहा है बल्कि प्राचार्य आरके स्वर्णकार (Principal RK Swarnakar) के खिलाफ एक्‍शन की मांग की जा रही है.

  • Share this:
जबलपुर. कभी रद्दी बेचने तो कभी भवन निर्माण में घपलेबाजी के आरोपों से विवादों में रहने वाले मध्‍य प्रदेश के जबलपुर (Jabalpur) के एक प्राचार्य का एक और अनोखा कारनामा सामने आया है. शिक्षकों को प्रशिक्षण देने वाले प्रांतीय शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य ने इस बार मुर्दों को ही ट्रेनिंग में शामिल होने का प्रमाण पत्र (Certificate) जारी कर दिया. दरअसल शिक्षकों को अध्यापन के गुर सिखाने के लिए प्रांतीय शिक्षण महाविद्यालय में सरकार ट्रेनिंग कराती है, जहां अभी 470 शिक्षक छात्र बनकर प्रशिक्षण हासिल कर रहे हैं.

हैरानी की बात यह है कि कोरोना महामारी की चपेट में आकर जान गंवाने वाले 4 शिक्षकों को भी यहां के प्राचार्य आरके स्वर्णकार ने ऑनलाइन प्रशिक्षण में शामिल दिखाकर कर उपस्थिति का प्रमाण पत्र जारी कर दिया. इसके बाद जमकर बवाल हो रहा है.

फिर ऐसे हुआ खुलासा
इस बात का खुलासा तब हुआ जब उपस्थिति पत्रक में कोरोना से मृत हुए शिक्षकों के भी नाम दर्ज थे. कोरोना से दिवंगत हुए शिक्षकों की उपस्थिति पत्रक में नाम देखकर कर्मचारियों में हड़कंप मच गया और उन्होंने इसका विरोध करना शुरू कर दिया. शिकायत कलेक्टर से लेकर संभाग आयुक्त तक की गई और पीएसएम के प्राचार्य आरके स्वर्णकार के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठने लगी. मध्य प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ ने प्राचार्य के इस कारनामे पर नाराजगी जताते हुए आरोप लगाया है कि घोटालेबाजी में हमेशा लिप्त रहने वाले प्राचार्य ने काली कमाई करने के लिए ही मृत हुए शिक्षकों की उपस्थिति दर्शाई है. कर्मचारी नेताओं ने पीएसएम के प्राचार्य आरके स्वर्णकार द्वारा पूर्व में किए गए घोटालों की जांच कर उन पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

कॉलेज के प्राचार्य ने बताई मानवीय भूल
वहीं मामला सामने आने के बाद कॉलेज के प्राचार्य आरके स्वर्णकार का कहना है कि पूरे मामले पर उन्होंने संबंधितों से स्पष्टीकरण मांगा है और जांच की जा रही है. यह मानवीय त्रुटि है जिसके लिए जिम्मेदारों के खिलाफ जांच भी की जा रही है. यदि उनकी गलती सामने आती है तो उनके खिलाफ निश्चित ही कार्रवाई भी की जाएगी. बहरहाल, यह मामला उजागर होने के बाद प्राचार्य के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की जा रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.