Home /News /madhya-pradesh /

दूध में मिलावट है या नहीं, कागज की एक स्ट्रिप से हो जाएगी जांच

दूध में मिलावट है या नहीं, कागज की एक स्ट्रिप से हो जाएगी जांच

दूध में होने वाली मिलावट को लेकर आजकल हर कोई परेशान है. इसे जांचने का कोई आसान तरीका नहीं होने के कारण लोग मिलावटखोरों का आसान शिकार बन जाते हैं. लेकिन अब मिलावटी दूध की जांच आम आदमी भी आसानी से कर सकेगा

दूध में होने वाली मिलावट को लेकर आजकल हर कोई परेशान है. इसे जांचने का कोई आसान तरीका नहीं होने के कारण लोग मिलावटखोरों का आसान शिकार बन जाते हैं. लेकिन अब मिलावटी दूध की जांच आम आदमी भी आसानी से कर सकेगा

दूध में होने वाली मिलावट को लेकर आजकल हर कोई परेशान है. इसे जांचने का कोई आसान तरीका नहीं होने के कारण लोग मिलावटखोरों का आसान शिकार बन जाते हैं. लेकिन अब मिलावटी दूध की जांच आम आदमी भी आसानी से कर सकेगा

    दूध में होने वाली मिलावट को लेकर आजकल हर कोई परेशान है. इसे जांचने का कोई आसान तरीका नहीं होने के कारण लोग मिलावटखोरों का आसान शिकार बन जाते हैं. लेकिन अब मिलावटी दूध की जांच आम आदमी भी आसानी से कर सकेगा.

    मध्य प्रदेश के जबलपुर के नानाजी देशमुख वेटरनरी विश्वविद्यालय की छात्राओं ने ऐसी खोज की है, जिसका इस्तेमाल कर आम आदमी भी दूध में मिलावट की जांच आसानी से कर सकता है.

    जबलपुर के नानाजी देशमुख पशुचिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय की छात्राओं ने दूध में मिलावट को पहचाने के लिए एक आसान तरीका इजात किया है. जो ना केवल आसान है बल्कि बेहद सस्ता भी है.

    नई खोज वेटरनरी कॉलेज के पब्लिक हेल्थ एंड एपिडेमियोलॉजी विभाग के शोध दल के जरिए की गई है. कॉलेज की एमवीएससी फाइनल ईयर की छात्रा डॉ. शकुंतला बिड़ला ने बताया कि नई खोज के जरिए दूध में डिटरजेंट एवं स्टार्च आदि के मिलावट की जांच बहुत ही आसान तरीके से की जा सकती है.

    इसके लिए पेपर स्ट्रिप्स तैयार की गई हैं, जिसके एक हिस्से पर दूध की एक बूंद डालने के बाद पेपर का वो हिस्सा गहरे नीले रंग का हो जाता है, जिससे साबित होता है कि दूध में डिटरजेंट या स्टार्च की मिलावट है. दूध यदि मिलावटी नहीं है तो पेपर का रंग नहीं बदलेगा.

    वहीं विश्वविद्यालय प्रबंधन का कहना है कि छात्राओं के दल की खोज ने दूध में मिलावट की जांच में एक नई क्रांति लाई है. इसके जरिए आम आदमी भी दूध में मिलावट की जांच घर बैठे कर सकता है.

    विश्वविद्यालय जांच करने वाले दल को आगे की शोध करने में पूरी मदद कर रहा है. साथ ही जो खोज की गई है उसे पेटेंट कराने की भी तैयारी की जा रही है. वहीं पेपर स्ट्रिप्स की जल्द ही एक किट तैयार की जाएगी जिसे लोग खरीद सकेंगे.

    Tags: Jabalpur news, Madhya pradesh news, Nanaji Deshmukh Veterinary Science University

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर