होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

कॉमनवेल्थ गेम्स में दिखा सेना का शौर्य : जबलपुर लौटने पर स्वर्ण पदक विजेता अचिंता का भव्य स्वागत

कॉमनवेल्थ गेम्स में दिखा सेना का शौर्य : जबलपुर लौटने पर स्वर्ण पदक विजेता अचिंता का भव्य स्वागत

कॉमनवेल्थ गेम्स में वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीतने वाले अचिंता सेना में हवलदार हैं.

कॉमनवेल्थ गेम्स में वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीतने वाले अचिंता सेना में हवलदार हैं.

Warm welcome of Achinta Sheuli : सेना के आला अधिकारियों की मौजूदगी में अचिंता शेउली का स्वागत किया गया. सेना के अधिकारियों ने उनको सम्मानित भी किया. इस मौके पर न्यूज़ 18 से खास बातचीत में गोल्ड मेडल विजेता अचिंता शेउली ने कहा इस उपलब्धि के लिए सेना के अधिकारियों और अपने कोच को जीत को श्रय देना चाहेंगे. यह मेडल देश के लिए समर्पित है. उनका अगला टारगेट अब ओलंपिक में देश के लिए गोल्ड मेडल लाना है. सेना के अधिकारियों का कहना है निश्चित तौर पर अचिंता शेउली की उपलब्धि युवाओं को प्रेरणा देगी. उनके कोच का कहना है इस खेल के लिए अनुशासन और एकाग्रता की जरूरत होती है. अचिंता में यह गुण साफ नजर आए और इसलिए खेलो इंडिया प्रतियोगिता से उन्होंने अचिंता शेउली को सेना में मौका दिया. आज अचिंता की लगन ने स्वर्ण पदक देश को दिला दिया.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. बर्मिंघम में खेले जा रहे कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में गोल्ड मेडल जीतकर जबलपुर लौटने पर अचिंता शेउली का भव्य स्वागत किया गया. पूरी दुनिया में हिंदुस्तान का नाम रोशन करने वाले अचिंता शेउली का जबलपुर से गहरा नाता है.

कोलकाता के रहने वाले अचिंता सेना में हवलदार हैं और इन दिनों जबलपुर में पदस्थ हैं. फिलहाल उनकी पोस्टिंग वन सिंगल ट्रेनिंग सेंटर में है. उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में 70 किलोग्राम वजन कैटेगरी के वेटलिफ्टिंग में स्वर्ण पदक जीता है. आज जब अचिंता शेउली जबलपुर पहुंचे तो सेना ने उनका भव्य स्वागत किया. सेना के जवानों ने उनकी स्वागत रैली निकाली और स्वर्ण वीर पर फूलों की वर्षा कर दी.

अंचिता पर बरसाए फूल
सेना के आला अधिकारियों की मौजूदगी में अचिंता शेउली का स्वागत किया गया. सेना के अधिकारियों ने उनको सम्मानित भी किया. इस मौके पर न्यूज़ 18 से खास बातचीत में गोल्ड मेडल विजेता अचिंता शेउली ने कहा इस उपलब्धि के लिए सेना के अधिकारियों और अपने कोच को जीत को श्रय देना चाहेंगे. यह मेडल देश के लिए समर्पित है. उनका अगला टारगेट अब ओलंपिक में देश के लिए गोल्ड मेडल लाना है. सेना के अधिकारियों का कहना है निश्चित तौर पर अचिंता शेउली की उपलब्धि युवाओं को प्रेरणा देगी. उनके कोच का कहना है इस खेल के लिए अनुशासन और एकाग्रता की जरूरत होती है. अचिंता में यह गुण साफ नजर आए और इसलिए खेलो इंडिया प्रतियोगिता से उन्होंने अचिंता शेउली को सेना में मौका दिया. आज अचिंता की लगन ने स्वर्ण पदक देश को दिला दिया.

ये भी पढ़ें- जबलपुर : 7 दिन बाद संभाग के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में शॉर्ट सर्किट से लगी आग, मच गई खलबली

सेना के अफसर भी उत्साहित
सेना के आला अधिकारी भी अचिंता की इस जीत से काफी उत्साहित हैं. उनका कहना है अचिंता शेउली ने खेल में एक नई ऊर्जा को ला दिया है. इससे प्रभावित होकर निश्चित तौर पर सेना के जवान खेल के प्रति भी उत्साहित होंगे और युवाओं को प्रेरणा मिलेगी.

Tags: Commonwealth Games 2022, Madhya pradesh latest news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर