लाइव टीवी

22 मंत्रियों के इलाके में ऐसी हारी कांग्रेस कि अब बीजेपी को है CM के एक्शन का इंतज़ार

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 27, 2019, 7:07 AM IST
22 मंत्रियों के इलाके में ऐसी हारी कांग्रेस कि अब बीजेपी को है CM के एक्शन का इंतज़ार
कमलनाथ कैबिनेट

कैबिनेट मंत्रियों के गढ में मिली हार को कांग्रेस अपनी चूक मानती है. वो मान रही है कि वो अपने विकास कार्यों को नहीं भुना पायी.

  • Share this:
मोदी की सुनामी में देश के कई राजनैतिक किले ढ़ह गए.बात मध्यप्रदेश की करें तो 5 महीने पहले सत्ता में आयी कांग्रेस के 22 मंत्रियों के इलाकों में ही पार्टी हार गयी. सबसे बुरी हार प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भानोट के विधान सभा क्षेत्र पश्चिम जबलपुर में हुई. प्रदेश में सिर्फ 6 मंत्री ही कांग्रेस की लाज बचा सके.

मुख्यमंत्री कमलनाथ की सेना लोकसभा चुनाव की रणभूमि में बुरी तरह परास्त हुई. 22 कैबिनेट मंत्रियों के विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस उम्मीदवारों को करारी हार का सामना करना पड़ा. जिन क्षेत्रों में 5 माह पहले कांग्रेस को जनादेश मिला वहां की सियासी आवोहवा मानो पूर्व से पष्चिम हो चली.
- जबलपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र में जहां से प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भानोत आते हैं, वहां कांग्रेस 84252 मत से हारी
- दूसरी बड़ी हार राउ विधानसभा से विधायक और कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी के इलाके से हुई. वहां कांग्रेस 79931 वोट से हारी.

-तीसरी बड़ी हार सांची विधायक और मंत्री प्रभुराम चैधरी के इलाके से हुई जहां कांग्रेस 69751 मत से हारी
- चौथी बड़ी हार सांवेर विधानसभा से आने वाले मंत्री तुलसी सिलावट के इलाके से हुई. वहां कांग्रेस 67646 मतों से हारी
- पांचवी बड़ी हार खिलचीपुर विधान सभा क्षेत्र से आने वाले मंत्री प्रियवत सिंह के इलाके से हुई. कांग्रेस को 54962 वोट से हार का सामना करना पड़ा.
Loading...

ये भी पढ़ें-चुनाव में हार के बाद कांग्रेस में उठी संगठन के खिलाफ आवाज़

इनके अलावा मंत्री विजयलक्षमी साधौ, सज्जन सिंह वर्मा, हुकुम सिंह कराड़ा, डॉ गोविंद सिंह, बाला बच्चन, पी सी शर्मा, बृजेन्द्र सिंह राठौर, प्रदीप जयसवाल, गोविंद सिंह राजपूत, सुखदेव पांसे, हर्ष यादव, जयवर्धन सिंह, कमलेश्लर पटेल, लखन घनघोरिया, महेन्द्र सिंह सिसौदिया, प्रदुम्न सिंह तोमर, सचिन यादव के विधानसभा क्षेत्रों में भी कांग्रेस की बुरी तरह हार हुई.

ये भी पढ़ें-सिंधिया के 'मंत्रियों' के इलाके में हारे दिग्विजय के समर्थक

कैबिनेट मंत्रियों के गढ में मिली हार को कांग्रेस अपनी चूक मानती है. वो मान रही है कि वो अपने विकास कार्यों को नहीं भुना पायी. पार्टी प्रदेश सचिव सौरभ शर्मा के मुताबिक राष्ट्रवाद के मुद्दे पर लड़े गए इस चुनाव में कांग्रेस इससे दूर रही

भाजपा अब कांग्रेस के उन मंत्रियों के इस्तीफे के इंतज़ार में है जहां से कांग्रेस को करारी हार मिली है. लोकसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ के अल्टीमेटम को भाजपा अब याद कर रही है. कमलनाथ ने मंत्रियों को चेतावनी दी थी उनके इलाके से कांग्रेस हारना नहीं चाहिए.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स



LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी



News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 27, 2019, 7:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...