होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /शिक्षा के मंदिर मे धर्मांतरण का खेल! छात्र नहीं बल्कि शिक्षक को बनाया जा रहा था शिकार, पढ़ें पूरा मामला

शिक्षा के मंदिर मे धर्मांतरण का खेल! छात्र नहीं बल्कि शिक्षक को बनाया जा रहा था शिकार, पढ़ें पूरा मामला

रमाकांत मिश्रा ने जबलपुर के क्रिश्चियन हाई स्कूल पर धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने और धर्म ना बदलने पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.

रमाकांत मिश्रा ने जबलपुर के क्रिश्चियन हाई स्कूल पर धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने और धर्म ना बदलने पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.

Madhya Pradesh News: क्रिश्चियन हाई स्कूल के एक शिक्षक ने स्कूल प्रबंधन पर धर्मांतरण के बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं. शिक्ष ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

क्रिश्चियन हाई स्कूल के एक शिक्षक ने स्कूल प्रबंधन पर धर्मांतरण के बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं.
शिक्षक ने खुद को प्रताड़ित बताकर जिला प्रशासन से शिकायत की है.

जबलपुर. मध्यप्रदेश में सरकार की तमाम सख्तियों के बावजूद धर्मांतरण के मामले थमने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला जबलपुर का है, जहां क्रिश्चियन हाई स्कूल के एक शिक्षक ने स्कूल प्रबंधन पर धर्मांतरण के बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं. शिक्षक ने खुद को प्रताड़ित बताकर जिला प्रशासन से शिकायत की है. जबलपुर कलेक्टर ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं.

यह आरोप बेहद गंभीर हैं और आरोप लगाने वाला कोई और नहीं बल्कि क्रिश्चियन हाई स्कूल में 28 सालों से सेवाएं देते आ रहे रमाकांत मिश्र है. रमाकांत मिश्र क्रिश्चियन हाई स्कूल में बच्चों को गणित की शिक्षा देते हैं. रमाकांत मिश्रा ने जबलपुर के क्रिश्चियन हाई स्कूल पर धर्मांतरण के लिए दबाव बनाने और धर्म ना बदलने पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. मिश्रा ने स्कूल के खिलाफ जबलपुर कलेक्टर से लिखित शिकायत की है. इसमें कहा गया है कि धर्मांतरण ना करने वाले शिक्षकों का प्रमोशन नहीं होता और उन्हें मिशनरी के इस स्कूल में लगातार परेशान किया जाता है.

जमीन और पदोन्नति का दे रहे लालच

रमाकांत का कहना है कि स्कूल के प्रिंसिपल संजीव जेम्स उस पर ईसाई धर्म अपनाने का दबाव बना रहे हैं और इसकी एवज में महंगी जमीन देने और पदोन्नति करने का लालच दे रहे हैं. उनकी मांग को पूरा न करने पर उन्हें लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है जिसकी वजह से उसने स्कूल से छुट्टी ले ली है. रमाकांत ने कलेक्टर से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है.

सरकार ने लीज पर दी थी 11 एकड़ बेशकीमती जमीन

क्रिश्चियन हाई स्कूल को सरकार ने जबलपुर के नेपियर टाउन इलाके में करीब 11 एकड़ बेशकीमती जमीन शैक्षणिक गतिविधि चलाने के लिए लीज़ पर दी थी. वहां कर्मशियल कॉम्प्लैक्स बना हुआ है, लीज़ की जमीन पर करीब 100 दुकानें बनकर किराए पर संचालित की जा रही हैं. कॉम्प्लैक्स के पीछे स्कूल बना है. वहीं जबलपुर के कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने इस गंभीर शिकायत पर संज्ञान लिया है और जांच के आदेश दे दिए हैं.

जबलपुर में पहले भी आ चुका है मामला 

रमाकांत मिश्रा के द्वारा लगाए गए आरोप बेहद गंभीर है क्योंकि मध्यप्रदेश में पहला मौका नहीं है जब किसी ने धर्मांतरण के आरोप लगाए हो, जबलपुर में ही बिशप पीसी सिंह का भी खुलासा हुआ था जिस पर धर्मांतरण के आरोप लगे थे. लिहाजा क्रिश्चियन हाईस्कूल की भी जांच गंभीरता से होनी चाहिए.

Tags: Conversion case, Jabalpur news, Madhya pradesh news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें