अपना शहर चुनें

States

COVID-19: जबलपुर के लिए आफत बना NSA आरोपी जावेद, अब सेंट्रल जेल भोपाल में होगा शिफ्ट

जबलपुर से भागा कोरोना संक्रमित (उजले कपड़ों में) नरसिंहपुर में पकड़ा गया.
जबलपुर से भागा कोरोना संक्रमित (उजले कपड़ों में) नरसिंहपुर में पकड़ा गया.

एनएसए आरोपी जावेद पर इंदौर में स्वास्थ्यकर्मियों पर पत्थरबाजी का आरोप था जिसके चलते उस पर जिला बदर की कार्रवाई की गई थी.

  • Share this:
जबलपुर. इंदौर का पत्थरबाज और एनएसए (National Security Act) का आरोपी जावेद (Javed) कोरोना संक्रमण से ठीक हो गया है और जल्द उसे भोपाल की सेंट्रल जेल (Bhopal Central Jail) में शिफ्ट किया जाएगा. बता दें कि 11 अप्रैल को आरोपी जावेद की रिपोर्ट पाॅजिटिव पाई गई थी जिसके बाद उसे सीधे मेडिकल अस्पताल में इलाज के लिए भेज दिया गया था. आरोपी जावेद पर इंदौर में स्वास्थ्यकर्मियों पर पत्थरबाजी का आरोप था जिसके चलते उस पर जिला बदर की कार्रवाई भी की गई थी. 10 अप्रैल को उसे जबलपुर लाया गया था लेकिन कोरोना के लक्षण दिखते ही जेल अधीक्षक ने उसे जेल के अंदर लेने से इनकार किया और पहले कोरोना की जांच की मांग की. जेल गेट से ही उसे विक्टोरिया अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया था.

19 अप्रैल को फरार हुआ था जावेद
गौरतलब है कि इलाज के दौरान जावेद 19 अप्रैल को जबलपुर के नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल काॅलेज अस्पताल से फरार हो गया था. जावेद की फरारी ने पूरे पुलिस महकमे की नाक में दम कर दिया था. हालात इतने गंभीर हुए कि मामला पुलिस मुख्यालय तक पहुंच गया था और खुद डीजीपी ने फरारी पर 50 हजार का इनाम घोषित किया था. बहरहाल अगले ही दिन 20 अप्रैल को जावेद नरसिंहपुर से पकड़ा गया और उसे वापस मेडिकल अस्पताल लाया गया था.

जावेद ने किया था नाक में दम, एसपी तक का हो गया था तबादला
जावेद की इस फरारी ने जबलपुर एसपी अमित सिंह तक का तबादला करा दिया था. वहीं जावेद को लेने गए एक आईपीएस अधिकारी को कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया था. कहने को जावेद जबलपुर के लिए आफत साबित हुआ. अब जब वो स्वस्थ्य हो गया है तो कोर्ट के आदेश पर उसे भोपाल की सेट्रल जेल में शिफ्ट किया जाएगा.



ये भी पढ़ें-

कमलनाथ ने शुरू करवाई थी व्यापम घोटाले की जांच, BJP सरकार में बंद हुई कार्रवाई

शिवराज कैबिनेट के विस्तार की अटकलें तेज, 23 मंत्री ले सकते हैं शपथ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज