साइबर अपराधियों के चंगुल में फंसे BJP के दबंग विधायक, दो खातों से उड़ाए इतने लाख रुपये
Jabalpur News in Hindi

साइबर अपराधियों के चंगुल में फंसे BJP के दबंग विधायक, दो खातों से उड़ाए इतने लाख रुपये
सायबर अपराधियों ने BJP विधायक के खातों से पैसे निकाले

जबलपुर (jabalpur) साइबर सेल प्रभारी के मुताबिक शिकायत में मिले तथ्यों की जांच की गई तो आरोपी (accussed) असम के निकले.

  • Share this:
जबलपुर. साइबर अपराधियों (Cyber criminals) ने बीजेपी नेता (BJP leader) के खाते में भी सेंध लगा दी. सिवनी से पार्टी विधायक मुनमुन राय (moonmoon rai)  साइबर ठगों के जाल में ऐसे फंसे कि पता ही नहीं चला कि कब उनके खाते से लाखों रुपए निकाल लिए गए.  साइबर अपराधियों ने उनके एक नहीं दो खातों से पैसे निकाल लिए.

अलग अलग खातों से निकाले साढ़े 4 लाख रुपए
मामला लॉकडाउन के दौरान का है. मुनमुन राय सिवनी से बीजेपी के विधायक हैं. वो बाहुबली माने जाते हैं. इलाके में उनका दबदबा है. लेकिन ठगों की हिमाकत तो देखिए कि उन्हें भी नाप लिया. आरोपियों ने उनके दो खातों से करीब साढ़े चार लाख रुपए निकाल लिए. ठगों ने ऑनलाइन बैंकिंग के ज़रिए उनका खाता हैक कर ये रकम ट्रांसफर कर ली. बड़े ही शातिर ढंग से की गई इस आपराधिक घटना को हाई स्किल्ड अपराधियों ने अंजाम दिया है. जबलपुर साइबर सेल प्रभारी के मुताबिक शिकायत में मिले तथ्यों की जांच की गई तो असम के ठगों का नाम सामने आया है.

ऐसे ठगी का पता चला 
मामला लॉकडाउन के दौरान का है. जब पूरा देश घर में बंद था. काम-काज ठप्प पड़ा था. स्कूल-कॉलेज, ऑफिस सब बंद थे लेकिन शातिर ठग तब भी सक्रिय थे. मुनमुन राय ने उसी दौरान अपनी कार का इंश्योरेंस रिन्यु कराने के लिए बैंक में चैक जमा किया. लेकिन चैक बाउंस हो गया.तब जाकर इस पूरे खेल का पता उन्हें लगा.खातों के पैसे निकलने की सूचना उन्होंने पहले स्थानीय थाने में. लेकिन मामला  साइबर अपराध से जुड़ा था इसलिए इसे जबलपुर सायबर सेल ट्रांसफर कर दिया गया. पुलिस ने पड़ताल की तो ये शातिर असम के निकले.



टीम असम रवाना
अपराधियो की गिरफ्तारी के लिए असम टीमें रवाना कर दी गई हैं. इस मामले के सामने आने के बाद यह तो साफ हो गया है कि साइबर अपराध का दायरा अब बहुत अधिक बढ़ गया है. सुरक्षित कही जाने वाली ऑनलाइन बैंकिंग भी अब शातिर बदमाशों के लिए चुटकियों का खेल हो गई है. कोरोना संक्रमण के दौर में कैशलैस इकनॉमी को बढ़ावा मिला जिसका फायदा इन साइबर ठगों ने उठाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज