लाइव टीवी

क्या नई सरकार भी महाकौशल के राजनैतिक महत्व का मान रखेगी?
Jabalpur News in Hindi

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 20, 2020, 5:44 PM IST
क्या नई सरकार भी महाकौशल के राजनैतिक महत्व का मान रखेगी?
नई कैबिनेट में महाकौशल से शामिल हो सकते हैं कई चेहरे

कमलनाथ सरकार (kamalnath Government) के जाते ही इस बात के कयास लगने लगे हैं कि क्या बीजेपी के राज में भी महाकौशल का वजन बरकरार रहेगा.

  • Share this:
जबलपुर. कमलनाथ की सरकार जाते ही अब पुनः प्रदेश में कमल के खिलने का रास्ता साफ हो गया है. सत्ता परिवर्तन को लेकर चली सियासी खींचतान के बाद अब प्रदेश के मुखिया और मंत्रिमंडल (Cabinet) को लेकर कई नामों पर संभावित दावेदारी दिख रही है. विशेष तौर पर महाकौशल अंचल (Mahakaushal Region) से करीब 4 या फिर उससे अधिक मंत्रियों के शामिल होने की उम्मीद है.

महाकौशल के कई चेहरों को मिल सकता है मौका
प्रदेश से कमलनाथ गए तो अब फिर से कमल की बारी आ गई है. 15 साल की सत्ता खो जाने का गम, 18 महीनों तक तो सह लिया लेकिन अब बारी फिर ताजपोशी की है. सत्ता पर ताजपोशी से पहले वो कौन चेहरे हो सकते हैं जिन्हें ज़िम्मेदारी दी जा सकती है, इस पर चर्चाओं का बाज़ार अब गर्म है. बात महाकौशल की करें तो इस अंचल से करीब 4 या फिर उससे अधिक चेहरे मंत्रिमंडल पर अपनी जगह बना सकते हैं.

महाकौशल में भाजपा को हुआ था नुकसान



बीते 2018 के विधानसभा चुनावों में महाकौशल के 8 जिलों की 38 विधानसभा सीटों में भाजपा का बहुमत खिसका था, लेकिन फिर भी कुछ चेहरों ने अपनी छाप बनाए रखी. 38 में से मात्र 13 सीटों पर ही भाजपा अपना कब्ज़ा जमा पाई. बहरहाल जिन चेहरों ने महाकौशल में भाजपा की साख को बचाए रखा, उनके मंत्रिमंडल में शामिल होने की उम्मीद है. इनमें कटनी के विजयराघवगढ़ से पूर्व मंत्री संजय पाठक, रीवा से पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, जबलपुर से पूर्व मंत्री अजय विश्नोई, पनागर विधायक सुशील तिवारी, सिवनी विधायक मुनमुन राय, बालाघाट से पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन और नरसिंहपुर से पूर्व मंत्री जालम सिंह पटेल मंत्रिमंडल के सदस्य हो सकते हैं.

महाकौशल का राजनैतिक महत्व समझेगी बीजेपी
जिस तरह से कांग्रेस ने महाकौशल को पावर सेंटर बनाकर रखा था उस लिहाज़ से भाजपा भी अब महाकौशल के राजैनतिक महत्व को समझते हुए मंत्रिमंडल में इन चेहरों को शामिल कर सकती है. बहरहाल कयासों के उठकर भी अगर समझें तो इनमें से लगभग सभी चेहरे कद्दावर हैं, जिनके कैबिनेट में शामिल होने की पूरी पूरी उम्मीदें हैं.

ये भी पढ़ें -
MP में नयी सरकार बनाने की कवायद : नरेन्द्र सिंह तोमर बोले-मैं CM पद की रेस में नहीं
ट्विटर पर कमलनाथ : 'आज उम्मीद और विश्वास की हार हुई, लोभी-प्रलोभी जीत गए'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 20, 2020, 5:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर