लाइव टीवी

दिग्विजय ने महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के लिए बीजेपी को दोषी ठहराया

Pavan Patel | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 15, 2019, 10:08 PM IST
दिग्विजय ने महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के लिए बीजेपी को दोषी ठहराया
दिग्विजय सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा ने शिवसेना को धोखा दिया है.

जबलपुर (Jabalpur) पहुंचे पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) ने भाजपा को महाराष्ट्र (Maharashtra) में शिव सेना (Shiv Sena) के साथ सरकार न बनाने पर घेरने की कोशिश की है. दिग्विजय सिंह ने कहा कि दोनों पार्टियों में पहले समझौता हुआ था कि ढाई-ढाई साल के लिए दोनों पार्टियों का सीएम रहेगा लेकिन अब भाजपा ने गठबंधन से इनकार कर दिया है.

  • Share this:
जबलपुर. मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) शुक्रवार को जबलपुर के जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru Agruculture University) प्रांगण में हुए आदिवासी सम्मेलन में शामिल होने के लिए पहुंचे थे. गृहमंत्री बाला बच्चन (Bala Bachchan) और शहर के विधायक-पूर्व विधायक भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए. अमर शहीद बिरसा मुंडा की जयंती पर आयोजित आदिवासी सम्मेलन में करीब 40 युवा जोड़े विवाह के बंधन में बंधे हैं, जिन्हें प्रदेश सरकार द्वारा 51 हजार रुपए की कन्यादान राशि भी प्रदान की गई है.

'उद्धव ठाकरे के बयान से स्पष्ट हो गया कि समझौता हुआ था'
मीडिया से चर्चा के दौरान जहां दिग्विजय सिंह ने कार्यक्रम की तारीफ की, वहीं महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के लिए भाजपा को दोषी करार दिया. उन्होंने भाजपा पर धोखाधड़ी करने के आरोप लगाए हैं लेकिन सरकार कैसे बनेगी और किसकी बनेगी इस पर कोई टिप्पणी नहीं की. दिग्विजय सिंह ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को गठबंधन तोड़ने के लिए जिम्मेदार बताते हुए कहा कि अमित शाह ने गठबंधन तोड़ने के लिए सीधे इनकार नहीं किया बल्कि उद्धव ठाकरे पर बंद कमरे में हुए समझौते का खुलासा करने की आड़ ली, इसके अलावा उद्धव ठाकरे की बातों से भी यह स्पष्ट हो चुका है कि यह समझौता हुआ था.

आदिवासी सम्मेलन में छाया लोकनृत्य

गृहमंत्री बाला बच्चन और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने नव विवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया और कार्यक्रम की तारीफ की. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के सहयोग के बिना आदिवासी समाज द्वारा एकजुट होकर कई सालों से यह आयोजन किया जा रहा है जो सराहनीय कदम है. कार्यक्रम के दौरान बच्चों द्वारा लोकनृत्यों की प्रस्तुतियां भी दी गईं.

इस आयोजन में शहर के अलावा आसपास के जिलों से भी बड़ी संख्या में आदिवासी समुदाय के लोग पहुंचे थे. पूर्व मंत्री कौशल्या गोंटिया के मार्गदर्शन में बीते 20 वर्षों से यह आयोजन हर साल किया जा रहा है. सम्मेलन के दौरान पूर्व मंत्री कौशल्या गोंटिया ने गृहमंत्री एवं पूर्व मुख्यमंत्री को एक मांगपत्र भी सौंपा है, जिसमें आदिवासी समाज के बच्चों को बेहतर शिक्षा एवं आदिवासी बहुल इलाकों के स्थानीय निकाय चुनावों में आदिवासी समाज के लोगों को टिकट देने की मांग की गई है.

ये भी पढ़े -
Loading...

विदिशा मेडिकल कॉलेज लोकार्पण: शिवराज का छलका दर्द, बोले- CM कमलनाथ ने हमें भुला दिया
PHOTOS : इंदौर के ज़ायके के फैन हुए VVS लक्ष्मण, लिखा-कभी पोहे से तीखे-कभी जलेबी से मीठे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 8:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...