Assembly Banner 2021

खुल गए न्याय के मंदिर : MP की अदालतों में आज से कामकाज शुरू

कोरोना और लॉक डाउन के कारण मध्य प्रदेश की अदालतों में 23 मार्च से प्रत्यक्ष सुनवाई बंद थी.

कोरोना और लॉक डाउन के कारण मध्य प्रदेश की अदालतों में 23 मार्च से प्रत्यक्ष सुनवाई बंद थी.

जिला न्यायालयों (District court) में प्रत्यक्ष सुनवाई का यह प्रयोग 5 दिसंबर तक चलेगा.आदेश के मुताबिक अदालतों (court) में सुनवाई एक दिन के अंतर से होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2020, 1:27 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) की अदालतों में कामकाज शुरू हो गया है. प्रदेश भर के जिला एवं कुटुंब न्यायालय आज से खुल गए हैं. मध्य प्रदेश हाई कोर्ट (HC) के चीफ जस्टिस के आदेश पर प्रदेश भर की जिला एवं कुटुंब न्यायालयों में प्रत्यक्ष सुनवाई की शुरुआत आज से प्रयोग के रूप में की गई है.

एक दिन छोड़कर होगी सुनवाई
जिला न्यायालयों में प्रत्यक्ष सुनवाई का यह प्रयोग 5 दिसंबर तक चलेगा.आदेश के मुताबिक अदालतों में सुनवाई एक दिन के अंतर से होगी. इन दिनों होने वाली प्रत्यक्ष सुनवाई में रिमांड, जमानत, सिविल और क्रिमिनल अपील, 5 साल से अधिक पुराने क्रिमिनल मामले और एक्सीडेंट क्लेम जैसे मामलों की सुनवाई की जाएगी.वहीं दूसरी ओर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई की प्रक्रिया जारी रहेगी.

मार्च से बंद थीं अदालतें
23 मार्च 2020 के बाद से कोरोना संकट के दौरान प्रदेश भर की जिला अदालतें बंद थीं. न्याय सुचारू रूप से दिया जा सके इस मकसद को ध्यान में रखते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जिला अदालतों में सुनवाई की जा रही थी. आज से हुई प्रत्यक्ष शुरुआत के बाद जिला अदालतों में कम ही सही लेकिन भीड़ भाड़ आना शुरू हो गई है. जबलपुर जिला न्यायालय में अधिवक्ता सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क की अनिवार्यता और सेनिटाइजेशन का विशेष ध्यान रख रहे हैं. अदालत पहुंचे पक्षकारों से भी वकीलों ने कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की. वकीलों का कहना है लंबे समय से अधिवक्ता आर्थिक रूप से बेहद परेशान हो चुके हैं. अब जब चीफ जस्टिस ने उनकी मांग को सुना है तो यह खबर उनके लिए बेहद राहत भरी है. अधिवक्ताओं को भरोसा है कि एहतियातन प्रारंभिक रूप से शुरू हुई प्रत्यक्ष सुनवाई की इस प्रक्रिया में अच्छे परिणाम देखने मिलेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज