लाइव टीवी

जबलपुर नगर निगम के परिसीमन को लेकर BJP-कांग्रेस में घमासान, महापौर ने लगाए ये आरोप

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 16, 2020, 4:29 PM IST
जबलपुर नगर निगम के परिसीमन को लेकर BJP-कांग्रेस में घमासान, महापौर ने लगाए ये आरोप
परिसीमन को लेकर सियासी उठापटक शुरू.

जबलपुर नगर निगम (Jabalpur Municipal Corporation) के वार्ड परिसीमन की प्रक्रिया को लेकर भाजपा और कांग्रेस में सियासत शुरू हो गई है. जबकि महापौर स्वाति गोडबोले ने जिला प्रशासन पर कई आरोप लगाए हैं.

  • Share this:
जबलपुर. मध्‍य प्रदेश के जबलपुर नगर निगम (Jabalpur Municipal Corporation) के वार्ड परिसीमन की प्रक्रिया पर सियासत होनी शुरू हो गई है. जिला प्रशासन द्वारा नगर निगम के 79 वार्डों को बढ़ाकर 82 किए जाने को लेकर हो रहे परिसीमन को भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने गलत ठहराया है. इस पूरे मामले को लेकर महापौर स्वाति गोडबोले ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाए हैं कि नगर निगम के उन 42 वार्डों से छेड़छाड़ की गई है, जिनमें भाजपा की पकड़ मजबूत रही है.

भाजपा की बढ़त वाले वार्डों से छेड़छाड़
भाजपा द्वारा इस आश्य के साथ एक आपत्ति भी जिला प्रशासन में दर्ज कराई गई है, जिसमें आरोप लगाए गए हैं कि वार्डों का विस्तारीकरण राजनीति से प्रेरित है. जानबूझकर उन वार्डों को छेड़ा जा रहा है जिसमें भाजपा को बढ़त है. जबकि ज्‍यादा जनसंख्या वाले अन्‍य वार्डों को छुआ भी नहीं गया. अधिसूचना के मुताबिक जबलपुर में पूर्व विधानसभा में 2 वार्ड जबकि उत्तर मध्य विधानसभा में 1 वार्ड बढ़ाने का प्रस्ताव रखा गया है. 10 जनवरी को जारी की गई अधिसूचना में 7 दिवस के अंदर दावे आपत्तियां बुलाई  हैं.

इतनी है जबलपुर नगर निगम की जनसंख्या

>> 2011 की जनगणना के मुताबिक नगर निगम जबलपुर में कुल जनसंख्या 1206606 है.
>> अनुसूचित जाति की कुल जनसंख्या 171530 है.
>> अनुसूचित जनजाति की कुल जनसंख्या 61050 है.>> नए परिसीमन के मद्देनजर प्रस्तावित वार्डों की कुल संख्या 82 रखी गई है.
>> इनमें औसत जनसंख्या का आंकड़ा 14714 रखा गया है.

विपक्ष ने बीजेपी पर लगाया ये आरोप
भाजपा के आरोपों पर कांग्रेस ने पलटवार किया है. कांग्रेस के प्रदेश महासचिव सौरभ नाटी के मुताबिक जब से भाजपा विपक्ष में आई है तब से कांग्रेस सरकार की हर नीति और निर्णय में उसे सिर्फ राजनीति ही नजर आती है. ऐसा नहीं है कि पहली बार वार्डों का विस्तारीकरण हो रहा है. भाजपा शासन में भी परिसीमन की प्रक्रियाएं हुई हैं तब ऐसी कोई बात नहीं उठती थी, लेकिन कांग्रेस द्वारा किया जा रहा कार्य भाजपा की नजर में सिर्फ राजनीति से प्रेरित होता है. भाजपा के आरोपो पर तंज कसते हुए कांग्रेस ने दलील दी कि अगर भाजपा शासित वार्डों को छेड़ा जा रहा है तो इसमें बीजेपी को डरने की क्या जरूरत. अगर वोटर उनके हैं तो उनके साथ ही रहेंगे. बहरहाल, अगर फिर भी कुछ गड़बड़ी लगती है तो समय सीमा के अंदर आपत्ति दर्ज कराई जा सकती है.

ये भी पढ़ें-

7 हजार तनख्वाह वाले इस शख़्स के खाते में आए 1 अरब 32 करोड़ रुपए...

 

मध्य प्रदेश के इस चर्चित अफसर ने NRC पर PM मोदी से की ये गुज़ारिश...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 4:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर