युवक की हत्या का मामला, आरोपी के साथी और स्मैक तस्कर पर भी संदेह

हत्या के गिरफ्तार आरोपी

पीयूष और उसका रूममेट दिलीप दोनों ही स्मैक का नशा करते थे और नशे की हालत में ही दिलीप ने रॉड़ से पीयूष की हत्या कर दी थी. इस वारदात को अंजाम देने के बाद दिलीप कमरा बंद करके चला गया था. इसके तीन घंटे बाद दिलीप अपने एक साथ रवि पासी के साथ मदन महल थाने पहुंचा और सरेंडर कर दिया.

  • Share this:
जबलपुर के गढ़ा थाना इलाके में मातो श्री हॉस्टल में गुरुवार दोपहर छात्र पीयूष तिवारी की हत्या हुई थी. मामले में करीब तीन घंटे बाद मृतक के रूममेट दिलीप तिवारी ने पुलिस थाने में सरेंडर करते हुए पीयूष की हत्या करने का अपराध कबूल किया था. इस मामले में अब एक नया मोड़ सामने आया है.

मृतक पीयूष के चाचा जो अनूपपुर में प्रधान आरक्षक के पद पर कार्यरत है, उन्होंने जबलपुर पहुंचकर हत्या में स्मैक तस्कर का हाथ होने की आशंका जताई. उनका कहना है कि जिस हाल में पीयूष का शव मिला था उससे स्पष्ट है कि पीयूष की हत्या में एक से ज्यादा लेग शामिल थे.

दरअसल, पीयूष और उसका रूममेट दिलीप दोनों ही स्मैक का नशा करते थे और नशे की हालत में ही दिलीप ने रॉड़ से पीयूष की हत्या कर दी थी. इस वारदात को अंजाम देने के बाद दिलीप कमरा बंद करके चला गया था. इसके तीन घंटे बाद दिलीप अपने एक साथ रवि पासी के साथ मदन महल थाने पहुंचा और सरेंडर कर दिया.

पीयूष के परिजनों के अनुसार जब उन्होंने पीयूष का कमरा खोलकर देखा तो उसका मुंह और हाथ-पैर बंधे हुए थे, जो किसी एक शख्स द्वारा करना संभव नहीं है. परिजनों ने हत्या में दिलीप के साथ रवि पर भी हत्या में शामिल होने का संदेह जताया है. परिजनों ने एएसपी संजीव उइके से मुलाकात कर इस मामले में रवि को भी आरोपी बनाने और निष्पक्ष कार्रवाई करने की मांग की है.

यह भी पढ़ें-  रोज-रोज के झगड़े से तंग आकर पति ने कर दी पत्नी की हत्या, गिरफ्तार

यह भी पढ़ें-   छतरपुर में हुई लोहा व्‍यापारी की हत्‍या का आरोपी गिरफ्तार

यह भी पढ़ें-   पत्नी और 6 महीने के मासूम की हत्या का फरार आरोपी गिरफ्तार