कांग्रेस का आरोप, ब्लैकलिस्टेड कंपनी को दिया बिजली मीटर रीडिंग का ठेका

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 17, 2017, 10:09 PM IST
कांग्रेस का आरोप, ब्लैकलिस्टेड कंपनी को दिया बिजली मीटर रीडिंग का ठेका
सौरभ नाटी शर्मा, सचिव मध्य प्रदेश कांग्रेस कमिटी
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 17, 2017, 10:09 PM IST
मध्य प्रदेश राज्य विद्युत मंडल द्वारा बिजली मीटर की रीडिंग और स्पॉट बिलिंग के लिए फेडको  कंपनी को दिया गया ठेका विवादों में घिरता नजर आ रहा है. दरअसल, कांग्रेस ने एक पत्रकार वार्ता कर आरोप लगाया है कि वर्ल्ड बैंक द्वारा फेडको कंपनी को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है.

बावजूद इसके जबलपुर शहर के सवा तीन लाख घरों की बिजली बिलों की रीडिंग के लिए ब्लैक लिस्टेड कंपनी को ठेका दे दिया गया है. कांग्रेस पदाधिकारियों ने ये आरोप भी लगाए हैं कि फेडको  कंपनी वही भगोड़ा कंपनी है जिसे पहले ए टू जेड कंपनी के नाम से जाना जाता था.

विगत चार माह से मध्य प्रदेश विद्युत मंडल के मीटर वाचक हड़ताल पर हैं. वहीं कथिततौर पर ब्लैकलिस्टेड कंपनी को मीटर रीडिंग का ठेका दिया जाना कई सवाल खड़ा कर रहा है. पिछले कुछ महीनों ने शहर के गरीब मजदूर वर्ग के घरों में 5-5 हजार के बिल आने से उनके सामने रोजी-रोटी का संकट गहरा गया है. ऐसे में कांग्रेसियों ने ऐसे ठगे गए बिजली उपभोक्ताओं के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, जिसके माध्यम से वे ऐसे पीड़ित बिजली उपभोक्ताओं को मदद पहुंचाएंगे और आगामी दिनों में इस मसले को लेकर लंबी लड़ाई लड़ेंगे.

(प्रतीक मोहन अवस्थी)

 
First published: September 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर