गैलेक्सी हॉस्पिटल कांड: स्टाफ भाग गया, ऑक्सीजन देने वाला ट्रेंड नहीं था, इसलिए हो गईं थीं 5 मौतें

जबलपुर में गैलेक्सी हॉस्पिटल की जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दी गई है.

जबलपुर में गैलेक्सी हॉस्पिटल की जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दी गई है.

गैलेक्सी हॉस्पिटल कांड: जबलपुर में 22 अप्रैल को हड़कंप मच गया था. 5 कोरोना मरीजों की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई थी. इसकी जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दी गई है. अस्पताल प्रबंधन पर एफआईआर दर्ज हो गई है.

  • Last Updated: May 10, 2021, 9:42 PM IST
  • Share this:

जबलपुर. जबलपुर के गैलेक्सी हॉस्पिटल कांड पर बनी जांच कमेटी ने कलेक्टर को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि मरीजों की मौत गैलेक्सी अस्पताल प्रबंधन की खामियों के चलते ही हुई. कलेक्टर को रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद गैलेक्सी हॉस्पिटल प्रबंधन पर FIR के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं.

गौरतलब है कि 22 अप्रैल की रात को गैलेक्सी अस्पताल में 5 मरीजों की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई थी. मरीजों को अकेला छोड़कर स्टाफ भाग गया था. इसी मामले की रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दी गई है. जिला स्तरीय जांच समिति की रिपोर्ट के आधार पर CMHO ने FIR के आदेश लॉर्डगंज थाना पुलिस को दिए हैं. साथ ही अस्पताल की कोरोना मरीजों के उपचार की अनुमति को भी निरस्त कर दिया गया है. अस्पताल को निर्देश दिए गए हैं कि जो मरीज वर्तमान में कोरोना का इलाज करा रहे हैं, उन्हें पूरे इलाज के बाद ही डिस्चार्ज करें.

ये रहे मरीजों की मौत के मुख्य कारण

जांच समिति के मुताबिक, गैलेक्सी हॉस्पिटल में स्वीकृत संख्या से अधिक कोरोना मरीजों का एडमिशन किया गया था. उस वक्त रात में अस्पताल में जिम्मेदार मैनेजर उपलब्ध ही नहीं था. इसके अलावा ऑक्सीजन सप्लाई करने के लिए नियुक्त ऑक्सीजन सुपरवाइजर पूरी तरह प्रशिक्षित नहीं था. और, सबसे बड़ा मुख्य कारण घटना के समय अस्पताल के कर्मचारी भाग गए और मरीजों को देखने वाला कोई नहीं बचा था.

Youtube Video

इस कांड पर शुरू हुई सियासत

जबलपुर में 22 अप्रैल को हुए गैलेक्सी हॉस्पिटल कांड पर सियासत तेज हो गई है. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने जहां इस मामले पर लगातार ट्वीट किए तो वहीं कांग्रेस के पूर्व मंत्री लघन घनघोरिया ने प्रशासन को घेरा है. इस पर भाजपा के सांसद राकेश सिंह ने भी पलटवार किया है. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मामले को लेकर एक के बाद एक लगातार तीन ट्वीट किए. उन्होंने लिखा- ‘जबलपुर के गैलेक्सी अस्पताल में 5 मरीज़ों की दुखद मौत के बाद 24 घंटे में जांच कर रिपोर्ट देने की बात कही गई थी, लेकिन 16 दिन बीत जाने के बाद भी आज तक जांच पूरी नहीं हुई है. यह एक गम्भीर लापरवाही है, मृतक के परिजन न्याय मिलने का इंतज़ार कर रहे हैं?’



विवादित गैलेक्सी ने रेड क्रॉस को दिया 25 लाख का दान- कमलनाथ

पूर्व मुख्यमंत्री ने यह ट्वीट भी किया- ‘यह जानकारी भी सामने आई है कि अस्पताल ने रेड क्रॉस सोसायटी के माध्यम से 25 लाख रुपये का दान भी दिया है. यह संस्था सीधे कलेक्टर के दायरे में आती है, ऐसे में यह सवाल भी उठ रहा है कि जिस अस्पताल के ख़िलाफ़ 5 लोगों की मौत की जांच चल रही है, उससे यह दान राशि किन परिस्थितियों में व किस कारण से ली गई? सवाल यह भी है कि जब जांच चल रही है उसी समय यह दान देना और लेना कितना पारदर्शी है कहीं यह दान के रूप में प्रशासन को दी गई रिश्वत तो नहीं?’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज