व्यापम और पेंशन घोटालों की भी जांच करवा लें शिवराज सिंह चौहान सरकार, तो मानें: तरुण भनोत
Jabalpur News in Hindi

व्यापम और पेंशन घोटालों की भी जांच करवा लें शिवराज सिंह चौहान सरकार, तो मानें: तरुण भनोत
तरुण भनोत ने मांग की है कि असल जांच तो वर्तमान शिवराज सरकार की होनी चाहिए. (फाइल फोटो)

पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोत (Tarun Bhanot) ने मांग उठाई कि शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) सरकार व्यापम, नर्मदा किनारे लगे पौधों, 25 लाख किसानों की ऋण माफी, 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली की भी जांच करानी चाहिए.

  • Share this:
भोपाल-जबलपुर. मध्य प्रदेश की वर्तमान शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) सरकार ने कमलनाथ (Kamal Nath) सरकार के कामकाज की जांच के लिए मंत्रियों की समिति गठित की है. इसकी पहली बैठक पर पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोत (Tarun Bhanot) ने व्यंग्य किए हैं. उन्होंने कहा है कि शिवराज, कमलनाथ सरकार के कामों की जांच तो करा लें, लेकिन उन कामों की भी जांच कराएं जो इन्होंने बीते 15 सालों में किए थे.

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा पर निशाना साधते हुए पूर्व वित्त मंत्री ने मांग उठाई कि सरकार व्यापम और पेंशन घोटाले की जांच कराएं, नर्मदा किनारे लगे लाखों पेड़ पौधों की भी जांच कराएं. वहीं इस बात की भी जांच करा लें कि क्या कांग्रेस ने 25 लाख किसानों का लोन माफ किया या नहीं. तंज भरे लहजे में पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार को इस बात की भी जांच करनी चाहिए कि क्या हमने 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली दी या नहीं.

असल जांच शिवराज सरकार की होनी चाहिए: भनोत
तरुण भनोत ने मांग उठाई कि असल जांच तो वर्तमान शिवराज सरकार की होनी चाहिए. मंत्रिमंडल बने एक माह का समय भी नहीं बीता लेकिन कोरोना काल में भी धड़ाधड़ तबादले कर दिए गए. आखिर ये तबादले क्यों किए गए? सरकार को इस बात की भी जांच करनी चाहिए. पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोत ने कहा कि जब कोरोना संकट आया, तब वर्तमान सरकार कांग्रेस विधायकों को खरीदने में जुटी थी.



जनता बिल्कुल भी माफ नहीं करने वाली है


ऐसे में सरकार को इस बात की भी जांच करनी चाहिए कि आखिर किसके पैसों से विधायकों को जहाज के द्वारा बैंगलोर ले जाया गया. विधायकों को होटल में ठहराने का खर्चा आखिर किसने उठाया, इस बात की भी जांच सरकार को करा लेनी चाहिए. वहीं सरकार को इस बात की भी जांच करनी चाहिए कि आखिर प्रदेश में किसने, ‘कोरोना से डरो ना’ का नाम दिया था, क्योंकि ऐसे व्यक्ति को जनता बिल्कुल भी माफ नहीं करने वाली है.

ये भी पढ़ें - 

COVID-19 Bihar Update: 65 नए मामले सामने आए, कुल केस बढ़कर 944 हुए

दिल्ली में 400 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी COVID-19 से संक्रमित: सत्येंद्र जैन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading