लाइव टीवी

इन 25 लाख लोगों को अभी हजामत के लिए करना होगा थोड़ा और इंतज़ार
Jabalpur News in Hindi

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: May 23, 2020, 6:51 AM IST
इन 25 लाख लोगों को अभी हजामत के लिए करना होगा थोड़ा और इंतज़ार
जबलपुर में अभी नहीं खुलेंगे हेयर कटिंग सेलून

सैलून बंद होने से परेशानी सभी को है. खुद कलेक्टर (collector) भरत यादव ने अपनी पत्नी से घर पर बाल कटवाए थे. हेयक कटिंग करवाते हुए खुद उन्होंने अपनी फोटो सोशल मीडिया (social media) पर पोस्ट की थीं.

  • Share this:
जबलपुर. 25 मार्च से लॉकडाउन (lockdown) में रह रहे जबलपुर (jabalpur) के लोगों को अभी अपनी हजामत बनवाने के लिए अभी और इंतज़ार करना होगा. जबलपुर में कोरोना (corona) के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए फिलहाल प्रशासन ने सैलून या नाई की दुकानें खोलने की इजाज़त नहीं दी है.

जबलपुर के लोगों को अभी बाल कटवाने के लिए थोड़ा और इंतज़ार करना होगा. भोपाल से जारी हुए आदेश के बाद राजधानी भोपाल में शर्तों के साथ भले ही सलून खोलने की अनुमति मिल गई हो लेकिन 199 कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ों वाले शहर जबलपुर में इसकी इजाज़त फ़िलहाल नहीं मिल पाई है. कलेक्टर भरत यादव ने इस संबंध में आदेश जारी किया है. इस आदेश के मुताबिक फ़िलहाल शहर की सीमाओं में हेयर कटिंग सैलून या नाई की दुकानें खोलने पर प्रतिबंध जारी है.

प्रदेश स्तर पर आदेश जारी होने के बाद शहरवासियो को ये उम्मीद जागी थी कि वो भी अब अपने लम्बे हो चुके बालों को और ज़रूरत से ज़्यादा बढ़ गई दाढ़ी और मूँछ को कटवा सकेंगे. फ़िलहाल ऐसे लोगों के लिए ये मायूसी भरी खबर है.



कलेक्टर ने बीवी से कटवाए थे बाल



सैलून बंद होने से परेशानी सभी को है. खुद कलेक्टर भरत यादव ने अपनी पत्नी से घर पर बाल कटवाए थे. हेयक कटिंग करवाते हुए खुद उन्होंने अपनी फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट की थीं.

रेड ज़ोन में जबलपुर
कोरोना संक्रमण को लेकर रेड और ग्रीन ज़ोन में बाँटे गए प्रदेश के अलग अलग शहरो में जबलपुर रेड ज़ोन में शामिल हो गया है. प्रदेश में सबसे पहले जबलपुर में ही कोरोान पेशेंट की पहचान हुई थी. पर शुरुआती दौर में उसके बाद हालात नियंत्रण में दिख रहे थे. लेकिन बीते 20 दिन में कोरोना संक्रमित मरीज़ों के आँकड़ों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई थी. यही वजह है कि अब प्रशासन किसी भी क़ीमत पर शहर को भोपाल और फिर इंदौर बनने नहीं देना चाहता.ज़िला प्रशासन किसी भी तरह की ढील को लेकर ख़ास सतर्क है. अब तक ज़िले में 12 कंटेनमेंट ज़ोन बनाए गए हैं, जबकि सात हज़ार से ज़्यादा लोग होम कोरंटाइन हैं. पॉज़िटिव मरीज़ों में से अब तक 116 मरीज़ ठीक होकर घर जा चुके हैं, जबकि 71 केस अब भी ऐक्टिव हैं.

ये भी पढ़ें-

भोपाल में फंसे वायनाड के छात्रों की राहुल गांधी ने की मदद, 50 छात्र केरल रवाना

सिंधिया के इलाके में कांग्रेस की जिला इकाइयां भंग,नयी टीम करेगी एंट्री

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 6:49 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading