लाइव टीवी

क्या MP में महंगी होगी बिजली, ऊर्जा मंत्री ने दरें बढ़ाने को लेकर क्यों दिया ये बयान?
Jabalpur News in Hindi

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 14, 2020, 3:49 PM IST
क्या MP में महंगी होगी बिजली, ऊर्जा मंत्री ने दरें बढ़ाने को लेकर क्यों दिया ये बयान?
बिजली की दरों पर बदले ऊर्जा मंत्री के सुर

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह (Priyavrat singh) ने कहा है कि बिजली दरों में बढ़ोतरी का निर्णय उनके हाथ में नहीं हैं लेकिन वो यही चाहते हैं कि प्रदेश में बिजली महंगी न हो.

  • Share this:
जबलपुर. मध्य प्रदेश के जबलपुर (Jabalpur) दौरे पर पहुंचे प्रियव्रत सिंह से जब बिजली कंपनियों (Power companies) को हो रहे घाटे और नियामक आयोग में दायर याचिकाओं (Petitions) पर सवाल किया गया तो उनके सुर बदले नज़र आए. पिछले महीने 'किसी भी हाल में बिजली महंगी नहीं होगी' कहने वाले ऊर्जा मंत्री ने शुक्रवार को जबलपुर में मीडिया से सवालों पर कहा कि बिजली के दामों पर फैसला उनके अधिकार क्षेत्र से बाहर है.

प्रदेश में बढ़ सकती है बिजली की दरें
बहरहाल उर्जा मंत्री के बदले सुर बता रहे हैं कि प्रदेश में बिजली महंगी हो सकती है. दरअसल प्रदेश की बिजली कंपनियों का घाटा लगातार बढ़ रहा है. पिछले 4 वित्तीय वर्षों में ये घाटा बढ़कर 32 हज़ार करोड़ पहुंच गया है. इस बीच वित्तीय वर्ष 2020-21 को लेकर दायर टेरिफ याचिका में भी घाटा दर्शाते हुए बिजली दरों की में बढ़ोतरी की मांग की गई है.

ज्योतिरादित्य के बयान पर दी प्रतिक्रिया

उर्जा मंत्री से जब ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा अतिथि शिक्षकों को लेकर दिए गए बयान पर उनकी प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि, 'सरकार वचन पत्र के अपने वादों को को पूरा करने के लिए वचनबद्ध है लेकिन सरकार की वित्तीय स्थिति किसी से छुपी नहीं है. सरकार का यही प्रयास है कि मुंह कम और कलम ज्यादा चलाएं. जहां तक ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा दिये गये बयान कि बात है तो उनकी बात का अलग अर्थ निकाला जा रहा है. लड़ाई किसी भी ढ़ंग से लड़ी जा सकती है, चाहे पार्टी के अंदर से हो या फिर बाहर से.'

IAS अफसरों के निवेश पर खुशी जताई
प्रदेश के आईएएस अफसरों की संपित्त का ब्यौरा डीओपीटी की वेबसाइट मे अपलोड होने के बाद सामने आए आंकड़ों पर उर्जा मंत्री ने खुशी जताई है. उनका कहना था कि समाज में आईएएस तबका अग्रणी वर्ग होता है जो आगे की सोचता है. आईएएस अफसरों का संपत्तियों में निवेश इस बात का परिचायक है कि मध्य प्रदेश सुधारों की दिशा में बढ़ रहा है.ये भी पढ़ें -
मध्य प्रदेश के पुराने सरकारी विमानों को मिले खरीददार, गुजरात की कंपनी ने जमा किए पैसे
गर्लफ्रेंड के लिए इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ बन गया VIP नंबर के रैकेट का सरगना, अब STF के सामने उगल रहा है राज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 3:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर