कोरोना वैक्सीन लगवाई है तो ठीक नहीं तो बस में नहीं कर सकेंगे यात्रा, जानें क्या है पूरा मामला...

जबलपुर में बस ऑपरेटर्स ने कोरोना से लड़ने के लिए एक नई पहल की है.

Jabalpur News: बस ऑपरेटरों ने की पहल, अब बिना वैक्सीनेशन करवाए नहीं दिया जाएगा किसी भी यात्री को टिकट, बस स्टेशन टर्मिनल पर भी लगाया गया वैक्सीनेशन कैंप.

  • Share this:
जबलपुर. मध्यप्रदेश में कोरोना का संक्रमण काफी कम हो गया है लेकिन फिर भी एहतियात के तौर पर परिवहन विभाग ने फैसला लिया है कि महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के बीच फिलहाल बसों का आवागमन नहीं होगा. परिवहन विभाग ने 30 जून तक महराष्ट्र और एमपी के बीच बस सेवा को स्‍थगित कर दिया है. वहीं अब जबलपुर में बस ऑपरेटर्स ने नई पहल की है. ऑपरेटर्स ने अब वैक्सीनेशन को बढ़ावा देने के लिए ऐसा फैसला किया है जो यात्रियों के लिए कुछ मुश्किल खड़ी कर सकता है.

जबलपुर बस ऑपरेटर एसोसिएशन ने अब फैसला किया है कि केवल उन्हीं यात्रियों को बस का टिकट दिया जाएगा जिन्हें वैक्सीन लग चुकी है. वहीं बस ऑपरेटर एसोसिएशन ने अंतर राज्य बस टर्मिनल में वैक्सीनेशन भी करवाया है. यहां पर आने वाले यात्रियों को वैक्सीन लगाई जाएगी.



...तो ही मिलेगा टिकट
बस ऑपरेटर्स का कहना है कि वैक्सीनेशन को बढ़ावा देने और लोगों को जागरूक करने के लिए बस ऑपरेटर्स ने ये फैसला किया है कि अब यात्रा करने से पहले यात्रियों से ये जानकारी ली जाएगी की उन्होंने वैक्सीन लगवाई है कि नहीं और अगर वैक्सीन नहीं लगवाई है तो यात्रा का टिकिट नहीं दिया जाएगा. बस ऑपरेटर्स का कहना है कि फिलहाल वैक्सीन की कमी है इसलिए रोजाना बस स्टेशन टर्मिनल में वैक्सीनेशन नहीं कराया जा रहा है लेकिन जैसे ही जिला पूर्ण वैक्सीनेशन की ओर बढ़ेगा बस ऑपरेटर सख्ती से यह नियम लागू कर देंगे कि बिना वैक्सीन लगवाए किसी भी यात्री को बस का टिकट नहीं दिया जाएगा.

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में अब कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम दिख रही है. पॉजिटिविटी रेट भी अब 0.1 प्रतिशत रह गया है. लेकिन अब एक नया खौफ घर कर रहा है और वो है कोरोना के डेल्ट प्लस वेरिएंट का. अब इसको लेकर केंद्र सरकार ने प्रदेश सरकार को अलर्ट भी जारी किया है. वहीं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में कोरोना की टेस्टिंग का काम किसी भी हाल में रोका नहीं जाएगी. उन्होंने कहा कि पिछले एक दिन में प्रदेशभर में 65 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. सिर्फ दो जिले ऐसे रहे जिनमें मामले डबल डिजिट में थे. आंकड़ाें पर नजर डाली जाए तो भोपाल में 13, इंदौर में 15, जबलपुर में 5, ग्वालियर में 2 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. वहीं 31 जिलों में एक भी मामला सामने नहीं आया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.