होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /लोकायुक्त के जाल में फंसा रिश्वतखोर क्लर्क, पकड़े जाते ही हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाने लगा...

लोकायुक्त के जाल में फंसा रिश्वतखोर क्लर्क, पकड़े जाते ही हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाने लगा...

जबलपुर के तहसील कार्यालय में क्लर्क इंद्रजीत सिंह को 5 हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ा.

जबलपुर के तहसील कार्यालय में क्लर्क इंद्रजीत सिंह को 5 हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ा.

Corruption. जबलपुर में लोकायुक्त की टीम ने तहसील कार्यालय में क्लर्क इंद्रजीत सिंह धूरिया को पांच हजार की रिश्वत लेते ध ...अधिक पढ़ें

जबलपुर. जबलपुर में लोकायुक्त की टीम ने तहसील कार्यालय के बाबू को रिश्वत लेते पकड़ लिया है.  लोकायुक्त की टीम ने तहसील कार्यालय पदस्थ  सहायक ग्रेड 2 इंद्रजीत सिंह को योजना बनाकर 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा. आरोपी इंद्रजीत सिंह ने मुआवजे की रकम दिलाने के एवज में एक व्यक्ति से 5 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी. भ्रष्टाचार के आरोप में इंद्रजीत को रंगे हाथों पकड़ लिया गया. वह जांच अधिकारियों के सामने छोड़ देने की गुहार लगाता रहा.

दरअसल विकास दुबे नाम के व्यक्ति ने लोकायुक्त से शिकायत की थी. उसने बताया था कि तिलवारा रोड पर स्थित उसकी जमीन को एनएचएआई ने अधिकृत कर लिया था. साल 2017 में हुई इस कार्रवाई के बाद से वह मुआवजे के लिए लगातार सरकारी दफ्तर के चक्कर काट रहा था. तहसील कार्यालय के क्लर्क इंद्रजीत सिंह ने मुआवजे की रकम दिलाने का वादा किया. इसके एवज में उसने विकास दुबे से 5 हजार रुपए की रिश्वत मांगी. विकास ने इसकी शिकायत लोकायुक्त में कर दी. इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने पुष्टि की और ट्रेपिंग के लिए जाल बिछाया.

रिश्वत लेते पकड़ा गया क्लर्क 
विकास दुबे 5 हजार रुपए लेकर तहसील कार्यालय पहुंचा. उसके बाद तय प्लान के मुताबिक उसने  रिश्वत की रकम इंद्रजीत सिंह को दे दी. इसके बाद इंद्रजीत सिंह धूरिया ने रिश्वत की रकम अपनी जेब में डाल ली. इसके तुरंत बाद लोकायुक्त की टीम ने मौके पर पहुंचकर इंद्रजीत की जांच की और उसे रिश्वत के रुपयों के साथ धरदबोचा. लोकायुक्त ने जैसे ही इंद्रजीत को ट्रैक किया उसके होश उड़ गए.

पकड़े जाने पर गिड़गिड़ाया 
इंद्रजीत ने लोकायुक्त के अधिकारियों से पकड़े जाने के बाद उनके सामने माफी मांगी. लेकिन अधिकारियों ने उसकी बात नहीं सुनी. वह अधिकारियों के सामने हाथ जोड़कर छोड़ देने की गुहार लगाता रहा लेकिन जांच अधिकारियों ने भ्रष्टाचार के आरोपी इंद्रजीत पर सख्त कार्रवाई की. भ्रष्टाचार के आरोप में लिपिक इंद्रजीत को लोकायुक्त ने रंगे हाथों ट्रैप कर लिया है.

Tags: Arrested for taking bribe, Corruption, Jabalpur crime, Madhya Pradesh News Updates

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें