Home /News /madhya-pradesh /

शहीद अश्विनी की मां बोलीं थीं - का कहूं बेटा...दो दिन पहले ही तो 'उससे' बात हुई थी

शहीद अश्विनी की मां बोलीं थीं - का कहूं बेटा...दो दिन पहले ही तो 'उससे' बात हुई थी

एयर स्ट्राइक

एयर स्ट्राइक

अश्विनी के बड़े भाई सुमंत कुमार बोले थे "आत्मा की संतुष्टि के लिए सब ठीक है, लेकिन असल संतुष्टि तब होगी जब ईंट का जवाब पत्थर से दिया जाएगा.

    Pok में आतंकी ठिकाने नेस्तनाबूद करने के बाद जबलपुर के खुडावल गांव के लोगों को ज़रूर तसल्ली मिली होगी जहां का एक जवान पुलवामा में शहीद हुआ था. पुलवामा में आतंकी हमले में  CRPF जवान अश्विनी काछी की शहादत के बाद उनके गांव खुड़ावल में  मातम छाया हुआ था. बुज़ुर्ग माता-पिता के बुढ़ापे का सहारा छिन गया. भाइयों के साथ खड़ा होने वाला जवान चला गया.

    शहीद अश्विनी के घर पर लोगों का तांता लगा रहा. बेसुध हो रही मां के आंसू थम नहीं रहे थे और पिता, बेटे के जाने पर यकीन नहीं कर पा रहे थे. श्विनी के बड़े भाई सुमंत कुमार बोले थे, "आत्मा की संतुष्टि के लिए सब ठीक है, लेकिन असल संतुष्टि तब होगी जब ईंट का जवाब पत्थर से दिया जाएगा." एयर स्ट्राइक के बाद आज उनकी ख्वाहिश पूरी हुई.

    ये भी पढ़ें - ज़रा याद करो कुर्बानी : पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुआ था जबलपुर का लाल अश्विनी कुमार काछी

    सिहोरा के खुड़ावल गांव के अश्विनी भी पुलवामा में CRPF की उसी बस में सवार थे, जिसे आतंकवादी ने अपना निशाना बनाया. वे अप्रैल में घर आने वाले थे. परिवार वाले उनके रिश्ते की बात कर रहे थे. सब ठीक रहता तो घर में ढोलक बजती...लेकिन बजी तो फोन की घंटी.

    ये भी पढ़ें - PHOTOS : शहीद अश्विनी काछी के गांव पहुंचे कमलनाथ के मंत्री

    चश्मे के पीछे से लुढ़कते आंसू,पिता सुकरू काछी का दर्द बयां कर रहे थे. पिता ने याद किया कि 14 फरवरी की रात लखनऊ से किसी अजनबी का फोन आया. उसने कहा कि मैं अश्विनी का दोस्त हूं. उसने ही आपका नंबर दिया था. उसी दोस्त ने अश्विनी की शहादत की ख़बर दी. पिता बेहाल हो गए. बार-बार कह रहे थे- 'आत्मा को तभी तसल्ली मिलेगी, जब दुश्मन से खून का बदला खून से लिया जाए.' सुकरू काछी अपने शहीद बेटे-अश्विनी को याद करते हुए कह रहे थे, वह बहुत आज्ञाकारी था.

    पुलवामा आतंकी हमला : ऐश्वर्या राय बच्चन ने शहीद वीर जवानों को दी श्रद्धांजलि

    शहीद अश्विनी की मां कौशल्या काछी का तो मानो संसार ही उजड़ गया था. वो बार -बार बस यही कहती रहीं...क्या कहूं बेटा...अभी परसों ही तो उससे बात हुई थी.

    शहीद अश्विनी के परिवार को एमपी सरकार ने 1 करोड़ की आर्थिक सहायता, एक घर और एक आश्रित को सरकारी नौकरी देने का एलान किया था. इस पर अश्विनी के बड़े भाई सुमंत कुमार बोले थे, "आत्मा की संतुष्टि के लिए सब ठीक है, लेकिन असल संतुष्टि तब होगी जब ईंट का जवाब पत्थर से दिया जाएगा." भारत सरकार ने आज उनकी ख्वाहिश पूरी की.

    Tags: Air Strike, Balakot, CRPF, Madhya pradesh news, Pulwama, Pulwama attack, Surgical Strike, Terrorist attack

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर