Home /News /madhya-pradesh /

West Central Railway के जबलपुर जोन ने किया ऐसा कमाल बढ़ गई ट्रेनों की स्पीड, जीत ली दक्षता शील्ड

West Central Railway के जबलपुर जोन ने किया ऐसा कमाल बढ़ गई ट्रेनों की स्पीड, जीत ली दक्षता शील्ड

jabalpur news.बीते साल में पश्चिम मध्य रेलवे (पमरे) की सिविल इंजीनियरिंग की टीम ने अपने तीनों मण्डलों में 14 किमी लंबी नयी रेल लाइन बिछायी, 26 किमी लाइन को डबल किया और 55 किमी तक तिहरा किया.

jabalpur news.बीते साल में पश्चिम मध्य रेलवे (पमरे) की सिविल इंजीनियरिंग की टीम ने अपने तीनों मण्डलों में 14 किमी लंबी नयी रेल लाइन बिछायी, 26 किमी लाइन को डबल किया और 55 किमी तक तिहरा किया.

Indian Railway news : भारत सरकार के रेल मंत्रालय ने रेलवे बोर्ड के 66 वें वार्षिक राष्ट्रीय पुरस्कार-2021 में दक्षता शील्ड की घोषणा की. इसमें पश्चिम मध्य रेलवे के सिविल इंजीनियरिंग विभाग को दक्षता शील्ड मिली. महाप्रबंधक सुधीर गुप्ता ने जबलपुर, भोपाल और कोटा मंडल के साथ सीआरडब्लूएस भोपाल, डब्ल्यूआरएस कोटा कारखानों के इंजीनियरिंग विभाग को बधाई दी.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. नए साल में पश्चिम मध्य रेलवे (West Central Railway) ने जबलपुर को Good News दी है. शानदार काम के लिए जबलपुर जोन (Jabalpur Zone) को दक्षता शील्ड से नवाजा गया है. ये शील्ड जबलपुर जोन की सिविल इंजीनियरिंग टीम को रेलवे लाइन्स के दोहरीकरण, तिहरीकरण और नयी लाइन डालने के लिए दी गयी है.

इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट में शानदार काम के लिए रेलवे बोर्ड ने पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर जोन को दक्षता शील्ड-2021 से सम्मानित किया है. जबलपुर जोन की सिविल इंजीनियरिंग की टीम के काम को यह सराहना मिली है.  इंजीनियरिंग विभाग की ओर से किया गया यह काम एक रिकॉर्ड है.

ट्रेनों की गति बढ़ी
पश्चिम मध्य रेल के सीपीआरओ राहुल जयपुरिया ने बताया कि वर्ष 2020-21 में पश्चिम मध्य रेलवे के इंजीनिरिंग विभाग ने कई ट्रैक और ब्रिजों पर महत्वपूर्ण काम किया. इनमें से भोपाल मण्डल में 233 रूट किमी और कोटा मण्डल में 545 रूट किमी ट्रैक में स्पीड बढ़ायी गयी. इससे इन रेलखण्डों की गति 130 केएमपीएच हो गई. इस तरह पमरे में कुल 874 किमी ट्रैक की मेनलाइन की स्पीड पर काम करते हुए इंजीनियरिंग की टीम ने 156 मिनट समय की बचत की गई. इसका असर ये हुआ कि पूरे जोन में ट्रेनों की आवाजाही ज्यादा स्पीड से हो सकी. ट्रेनें समय पर चलीं और अपनी मंजिल तक समय पर पहुंचीं.

ये भी पढ़ें- तीसरी लहर आ चुकी है, हम संकट के मुहाने पर खड़े हैं: शिवराज सिंह चौहान

यार्ड और ब्रिज का बेहतरीन काम
जबलपुर जोन की सिविल इंजीनियरिंग टीम ने इसके साथ ही लूप लाइन और पीएसआर रिमूवल-रिलेक्सेशन का भी काम किया. जबलपुर मण्डल के मेहगांव, ननवारा और उचेहरा स्टेशनों के यार्ड में रिमॉडलिंग यानि नये सिरे से काम कर ट्रैक की स्पीड बढ़ायी गयी. वर्ष 2020-21 में पश्चिम मध्य रेल के तीनों मण्डलों पर इंजीनियरिंग विभाग ने ब्रिजों का भी महत्वपूर्ण काम किया. उसने 35 लोअर हाइट सब वे, 43 लेवल क्रोसिंग गेट, 15 रोड ओवर ब्रिज और 31 रेलवे ब्रिज बनवाए.

इंजीनियरिंग टीम को बधाई
भारत सरकार के रेल मंत्रालय ने रेलवे बोर्ड के 66 वें वार्षिक राष्ट्रीय पुरस्कार-2021 में  दक्षता शील्ड की घोषणा की. इसमें पश्चिम मध्य रेलवे के सिविल इंजीनियरिंग विभाग को दक्षता शील्ड मिली. महाप्रबंधक सुधीर गुप्ता ने जबलपुर, भोपाल और कोटा मंडल के साथ सीआरडब्लूएस भोपाल, डब्ल्यूआरएस कोटा कारखानों के इंजीनियरिंग विभाग को बधाई दी.

Tags: Indian Railway news, Jabalpur news, Western railways

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर