अपग्रेड हो रहा है जबलपुर एयरपोर्ट, मुसाफिरों को मिलेंगी वर्ल्ड क्लास फेसिलिटी

2022 तक यह एक बेहद आधुनिक एयरपोर्ट बन जाएगा.
2022 तक यह एक बेहद आधुनिक एयरपोर्ट बन जाएगा.

जबलपुर एयरपोर्ट (Jabalpur airport) पर एयर ब्रिज, एडवांस्ड बैगेज स्क्रीनिंग सिस्टम, मॉर्डन फूड कोर्ट और 250 से अधिक बसों और कारों की पार्किंग वाला पार्किंग स्टैंड (Parking stand) तैयार किया जाएगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 5:50 PM IST
  • Share this:
दिल्ली. जबलपुर (Jabalpur) का डुमना एयरपोर्ट बहुत जल्द ही मॉर्डन (Modern) होने वाला है. काम तेज़ी पर है. यहां बिल्डिंग से लेकर रन वे (Run Way) चत सब नया बनाया जा रहा है. अगर सब कुछ ठीक गति से होता रहा तो 2022 तक यह एक बेहद आधुनिक एयरपोर्ट बन जाएगा.

मध्य प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर एयरपोर्ट की क्षमता में बढ़ोत्तरी की जा रही है. पर्यटकों के इस पसंदीदा शहर के एयरपोर्ट को अपग्रेड किया जा रहा है. इस एयरपोर्ट में नया टर्मिनल बिल्डिंग, एटीसी टावर और टेक्निकल ब्लॉक, फायर स्टेशन कैटेगरी 7 बनाया जा रहा है. इसके अलावा इस एयरपोर्ट के रनवे का विस्तार भी किया जा रहा है. इस एयरपोर्ट को अपग्रेड करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने साल 2015 में 468.43 एकड़ जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को दी थी. फिलहाल 775 एकड़ जमीन में इस एयरपोर्ट के विस्तार का काम किया जा रहा है.

यात्रियों को मिलेंगी ये सुविधाएं
विश्व स्तरीय सुविधाओं से लैस जबलपुर एयरपोर्ट का नया टर्मिनल बिल्डिंग पीक ऑवर में 500 यात्रियों को हैंडल कर पाएगा. 115180 स्क्वायर फीट क्षेत्र वाले इस टर्मिनल बिल्डिंग में एयर ब्रिजेज, एडवांस्ड बैगेज स्क्रीनिंग सिस्टम, मॉर्डन फूड कोर्ट और 250 से अधिक बसों और कारों की पार्किंग वाला पार्किंग स्टैंड तैयार किया जाएगा. यहां आने वाले यात्रियों के स्वागत के लिए नए टर्मिनल बिल्डिंग में गोंड पेंटिंग्स और स्थानीय हैंडिक्राफ्ट्स की छाप देखने मिलेगी.
इको फ्रेंडली बिल्डिंग


जबलपुर एयरपोर्ट पर बनाये जा रही बिल्डिंग में इको-फ्रेंडली मैटेरियल और उपकरणों का इस्तेमाल किया जा रहा है. ऊर्जा संरक्षण को देखते हुए नयी टर्मिनल बिल्डिंग में सोलर प्लांट लगाए जाएंगे.इसके अलावा सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट,बागवानी के लिए इस्तेमाल हुए पानी का उपयोग, रेन वॉटर हार्वेस्टिंग और अर्बन ड्रेनेज सिस्टम होगा.

और भी हैं काम
एयरबस 320 टाइप के एयरक्राफ्ट यहां टेक ऑप और लैंड कर सकें इसके लिए जबलपुर एयरपोर्ट के रनवे बढ़ाया जाएगा. 412 करोड़ रुपये की लागत से रन वे का एक्सटेंशन किया जाएगा। इसके अलावा 32 मीटर ऊंचा नया एटीसी टावर बनाया जाएगा. दिसंबर 2021 तक जबलपुर एयरपोर्ट का काम पूरा करने का लक्ष्य है. एयरपोर्ट में नयी टर्मिनल बिल्डिंग का काम मार्च 2022 तक पूरा किया जाना है.

ये हैं अट्रैक्शन
कान्हा नेशनल पार्क, बांधवगढ़ नेशनल पार्क, भेड़ाघाट जैसे कई पर्यटन स्थल हैं जिसे देखने के लिए साल भर पर्यटक जबलपुर आते हैं. इसके अलावा कई ऐतिहासिक धरोहर, ताल-तलैया और मंदिर भी पर्यटकों की पसंद हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज