Assembly Banner 2021

महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ के लिए यात्री परिवहन सुविधा लाॅक, 15 तक बंद रहेंगी बसें

बस ऑपरेटर्स ने भी परमिट टैक्स में राहत की डिमांड सरकार के सामने रखी है.

बस ऑपरेटर्स ने भी परमिट टैक्स में राहत की डिमांड सरकार के सामने रखी है.

Jabalpur. इससे पहले महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना संक्रमण (Corona) बढ़ने के बाद मध्य प्रदेश से वहां के लिए बसों की आवाजाही रोक दी गयी थी. महाराष्ट्र से लगने वाली सीमाएं भी सील करना पड़ी थीं.

  • Share this:
जबलपुर. कोरोना (Corona) संक्रमण की रफ्तार पर काबू पाने के लिए प्रदेश सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है. महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ के लिए भी बसों (Bus) और अन्य यात्री परिवहन साधनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है. राज्य के लिए चलने वाली यात्री परिवहन सेवा को फिलहाल 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है.

प्रदेश के  परिवहन आयुक्त की ओर से जारी आदेश में स्पष्ट कहा गया है कि कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य की तमाम अंतर्राज्यीय बस सेवाओं को 15 अप्रैल तक स्थगित रखा जाएगा. इस आदेश के बाद अब मध्य प्रदेश से छत्तीसगढ़ राज्य के विभिन्न शहरों के लिए चलने वाली करीब 500 बसों के पहिए थम जाएंगे.

Youtube Video




ऑपरेटर्स ने दी चेतावनी
कोरोना का संक्रमण महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा छत्तीसगढ़ राज्य में कहर बरपा रहा है. ऐसे में पड़ौसी राज्य की सड़क से कनेक्टिविटी बंद कर दी गई है. यानी अब मध्य प्रदेश से 2 राज्यों के लिए बस सुविधाएं पूर्ण रूप से बंद हैं. दूसरी ओर बस ऑपरेटर एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष का कहना है कोरोना संक्रमण की रोकथाम की दिशा में सरकार के साथ वे खड़े हैं. लेकिन जिस प्रकार का नुकसान बीते 1 साल से बस ऑपरेटरों को हो रहा है उसे ध्यान में रखते हुए सरकार परमिट टैक्स पर भी छूट दे. अन्यथा प्रदेश भर में बसों का संचालन बंद करना पड़ेगा.

महाराष्ट्र के लिए बंद हैं बस
इससे पहले महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद मध्य प्रदेश से वहां के लिए बसों की आवाजाही रोक दी गयी थी. महाराष्ट्र से लगने वाली सीमाएं भी सील करना पड़ी थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज