लाइव टीवी
Elec-widget

जबलपुर में पकड़ा गया प्रतिबंधित मछली से भरा ट्रक, NGT ने इस कारण लगाई थी रोक

Pavan Patel | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 2, 2019, 5:32 PM IST
जबलपुर में पकड़ा गया प्रतिबंधित मछली से भरा ट्रक, NGT ने इस कारण लगाई थी रोक
जबलपुर के व्यापारी के पास से मिली प्रतिबंधित मछली

जबलपुर के व्यवसायी एनजीटी (NGT) द्वारा प्रतिबंधित मछलियों का व्यापार कर रहे हैं, महाराष्ट्र के शोलापुर (Sholapur) से एक ट्रक में मंगाई गईं करीब 6.8 टन मछलियों को पुलिस ने जब्त कर फिशरी विभाग को सौंप दिया है. 

  • Share this:
जबलपुर. मध्य प्रदेश की जबलपुर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि एक ट्रक में पानी भरकर उसमें जिंदा थाइलैंड मांगुर मछलियां (Thailand Mangur Fish) मंगवाई गई हैं. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जब ट्रक की जांच की तो उसमें तिरपाल में पानी भरकर मछलियों को रखा गया था, जिन्हें जबलपुर में मछलियां खाने के शौकीन लोगों को बेचा जाना था. पुलिस ने फिशरी विभाग के अधिकारियों को भी इसकी जानकारी दी जो मौके पर पहुंचे और मामले का पंचनामा तैयार किया. दरअसल गोहलपुर थाना अंतर्गत खजरी खिरिया बाइपास में दिनेश कश्यप और आसिफ अंसारी का मछली गोदाम है, जहां से दूसरे राज्यों एवं शहरों से मछलियां खरीदकर स्टॉक करते हैं.

ये है मछली को प्रतिबंधित करने का कारण
अधिकारियों का कहना है कि थाइलैंड मांगुर मछली मांसाहारी होती है. इस मछली की खासियत यह है कि यह जिस नदी या तालाब में रहती है वहां के पानी में पलने वाले अन्य जीवों को खा जाती है. ये मछली पानी की वनस्पतियों को भी नष्ट कर देती है, जिससे उस क्षेत्र की बायो डाइवर्सिटी को काफी नुकसान होता है, इसलिए एनजीटी ने इसे पूर्णतः प्रतिबंधित कर दिया था. बावजूद इसके इनका परिवहन एवं खरीद फरोख्त हो रहा है चल रहा है.

व्यापारियों पर कार्रवाई का नहीं है प्रावधान

बहरहाल इन मछलियों को जब्त कर नष्ट किया जाएगा लेकिन इनका व्यापार करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी. जब्त की गईं मछलियों की अनुमानित कीमत करीब 4 लाख रूपए है और यह 100 से 150 रूपए प्रति किलो की दर से बाजार में बिकती है.

ये भी पढ़ें -
बीजेपी की कमलनाथ सरकार को सलाह-प्लेन खरीदने के बजाए किसानों की मदद करे
Loading...

कुछ ज़िलों में आज हो सकता है बीजेपी ज़िलाध्यक्षों के नाम का एलान, बाक़ी में माथापच्ची जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 5:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...