लाइव टीवी

इस जेल में सजा के साथ 'शेफ' बनने की ट्रेनिंग ले रहे कैदी, बना रहे 'मल्टी कूजीन फूड'

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 11, 2019, 8:55 PM IST
इस जेल में सजा के साथ 'शेफ' बनने की ट्रेनिंग ले रहे कैदी, बना रहे 'मल्टी कूजीन फूड'
कैदियों को मल्टी कूज़ीन व्यंजन बनाना सिखाया जा रहा

जबलपुर (Jabalpur) के नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेंट्रल जेल (Netaji subhash Chandra Bose Central Jail) के कैदी मल्टी कूजीन फूड बनाना सीख रहे हैं. केंद्र की कौशल विकास के तहत कैदियों को बेकरी (Bakery) वस्तुओं को बनाना भी सिखाया जा रहा है ताकि जेल से बाहर निकलने के बाद वो अपना स्वरोजगार कर सकें.

  • Share this:
जबलपुर. मध्य प्रदेश के जबलपुर में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (Prime Minister Skill Development Scheme) का लाभ अब जेल (Jail) की चारदीवारी तक पहुंच रहा है. जेल में अपने गुनाहों की सजा काट रहे बंदी यहां से निकलने के बाद फिर से अपनी जिंदगी को नए सिरे से संवार सकें. इसके लिए शासन (Government) कई तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम (Training Programmes) चला रहा है. बंदियों को हथकरघा, हैंडलूम, सिलाई, बुनाई, फर्नीचर निर्माण जैसे काम जेल के अंदर सिखाए जा रहे हैं. लेकिन अब इस कड़ी में एक कदम और आगे बढ़ते हुए शासन ने बंदियों को मल्टी कूजीन फूड (Multi cuisine food) बनाने में दक्ष करने की योजना पर काम शुरू कर दिया है. जी हां, अब जेल में ही बंदियों को शेफ (Shef) का काम सिखाया जा रहा है. बंदी सजा काटने के साथ स्वरोजगार (Self employment) के साथ आगे बढ़ रहे हैं.

राजस्थान, हिमाचल, गुजरात के एक्सपर्ट दे रहे ट्रेनिंग
जबलपुर के नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेंट्रल जेल के बंदी अब मल्टी कूजीन फूड बनाने में दक्ष हो रहे है. केंद्र शासन की कौशल विकास योजना के तहत जेल में बंद कैदियों को मल्टी कूजीन फूड के साथ बेकरी में बनने वाली चीजों को बनाने का हुनर सिखाया जा रहा है, ताकि वह जब सजा काट कर जेल से बाहर जाएं तो अपने हुनर के मुताबिक स्वरोजगार जनरेट करें, फूड कोर्ट खोलकर लोगों को एक से बढ़कर एक लजीज व्यंजन बनाकर खिला सकें. 6 महीने के ट्रेनिंग कार्यक्रम के दौरान बंदियों को जेल में ही सूप, पास्ता, पीज्ज़ा, नूडल्स, वेज, नॉनवेज खाने के साथ केक, बिस्किट, पेस्ट्री जैसी चीजों को बनाने की ट्रेनिंग दी जा रही है. इसके लिए जेल प्रशासन को केंद्र शासन सहयोग कर रहा है. खास बात ये है कि बंदियों को तरह तरह का खाना कैसे बनाया जाता है, उसका ज्ञान देने के लिए राजस्थान, हिमाचल, गुजरात सहित कई प्रदेशों के एक्सपर्ट ट्रेनिंग दे रहे हैं.

News - प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत दिया जा रहा प्रशिक्षण, Jabalpur Central Jail
प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत दिया जा रहा प्रशिक्षण


6 महीने की कुकिंग और बेकरी की ट्रेनिंग
जबलपुर की नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेंट्रल जेल में आज करीब 22 सौ से ज्यादा कैदी अलग-अलग अपराधों में सजा काट रहे हैं. इस योजना के तहत 30-30 बंदियों को मल्टी कूजीन फूड और बेकरी में बनने वाली चीजों की ट्रेनिंग के लिए चुना गया है. 6 महीने की कुकिंग और बेकरी की ट्रेनिंग पूरी होने के बाद इनकी परीक्षा भी ले जाएगी. समाज से भटके हुए इन लोगों को राह पर लाने के लिए जेल प्रशासन की ये पहल वाकई काबिले तारीफ है. इन बंदियों के मन में जो नकारात्मक ऊर्जा भर चुकी है, उसे उनके अंदर आत्म विश्वास जगाकर ही मिटाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें -
Loading...

इस अफसर के तबादले से नाराज़ गोपाल भार्गव ने कमलनाथ सरकार पर हमला बोला
AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ भोपाल के थाने में शिकायत, ये है मामला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 8:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...