अपना शहर चुनें

States

मकर संक्रांति: जबलपुर में नर्मदा तट पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़, हर तरीके से कर रहे सूर्य देव को प्रसन्न

नर्मदा तट पर भारी भीड़ उमड़ पड़ी है.
नर्मदा तट पर भारी भीड़ उमड़ पड़ी है.

सनातन धर्म में इस दिन का विशेष महत्व है, क्योंकि वर्ष का अकेला यही वो दिन होता है जब सूर्य देव अपना राशि परिवर्तन करते हुए धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2021, 10:10 AM IST
  • Share this:
जबलपुर. मकर संक्रांति के अवसर पर आज नर्मदा तटों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी. सैकड़ों भक्त स्नान दान और पूजन पाठ के लिए घाटों पर पहुंचे. गौरतलब है कि आज मकर संक्रांति और कुंभ का पहला स्नान है. सनातन धर्म में इस दिन का विशेष महत्व है, क्योंकि वर्ष का अकेला यही वो दिन होता है जब सूर्य देव अपना राशि परिवर्तन करते हुए धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करते हैं, जिसे हम मकर संक्रांति के नाम से जानते हैं.

उधर उज्जैन में भी मकर संक्रांति पर्व पर शिप्रा नदी के रामघाट पर श्रद्धालुओं ने सुबह से ही आस्था की डुबकी लगाई. नदी में स्नान कर पितरों के निमित्त तर्पण भी किया. शिप्रा में आज के दिन स्नान का विशेष महत्व है. मान्यता है कि समुद्र मंथन के समय अमृत की बूंद शिप्रा के रामघाट पर गिरी थीं. यही वजह है कि शिप्रा को मोक्षदायिनी भी माना जाता है. वनवास के दौरान भी भगवान राम और लक्ष्मण ने पिता दशरथ का पिंडदान भी रामघाट पर ही किया था. ऐसी भी मान्यता है कि शिप्रा में स्नान से सात जन्मों के पाप मिट जाते हैं.

आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल...



वैदिक शास्त्रों के अनुसार, मकर राशि शनि देव के स्वामित्व वाली राशि है, ऐसे में ये माना जाता है कि इस दिन पिता सूर्य, अपने पुत्र शनि के घर में प्रवेश करते हैं, जहां पिता-पुत्र का मिलाप होता है. आज गुरुवार भी है. आज के दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. विष्णु जी की पूजा करने से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं.
14 जनवरी 2021- आज का पंचांग

आज की तिथि- प्रतिपदा - 09:03:16 तक
आज का नक्षत्र- श्रवण - 29:04:47 तक
आज का करण- बव - 09:03:16 तक, बालव - 20:30:32 तक

आज का पक्ष- शुक्ल
आज का योग- वज्र - 22:04:00 तक
आज का वार- गुरुवार

सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय
सूर्योदय- 07:15:13
सूर्यास्त- 17:45:10
चन्द्रोदय- 08:15:00
चन्द्रास्त- 18:56:00
चन्द्र राशि- मकर

हिन्दू मास एवं वर्ष
शक सम्वत- 1942 शार्वरी
विक्रम सम्वत- 2077
काली सम्वत- 5122
दिन काल- 10:29:57
मास अमांत- पौष
मास पूर्णिमांत- पौष
शुभ समय- 12:09:12 से 12:51:12 तक

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)
दुष्टमुहूर्त- 10:45:12 से 11:27:12 तक, 14:57:11 से 15:39:11 तक
कुलिक- 10:45:12 से 11:27:12 तक
कंटक- 14:57:11 से 15:39:11 तक
राहु काल- 13:48:57 से 15:07:41 तक
कालवेला / अर्द्धयाम- 16:21:11 से 17:03:11 तक
यमघण्ट- 07:57:13 से 08:39:13 तक
यमगण्ड- 07:15:13 से 08:33:58 तक
गुलिक काल- 09:52:43 से 11:11:27 तक (साभार- Astrosage.com)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज