फर्जी पासपोर्ट मामला: मोनिका बेदी मामले में सुनवाई पूरी, हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला
Jabalpur News in Hindi

फर्जी पासपोर्ट मामला: मोनिका बेदी मामले में सुनवाई पूरी, हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला
अभिनेत्री मोनिका बेदी पर लगा है फर्जी पासपोर्ट बनवाने का आरोप.

जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur High Court) ने बॉलीवुड एक्‍ट्रेस मोनिका बेदी (Monica Bedi) के फर्जी पासपोर्ट मामले (Fake Passport Case) में सुनवाई पूरी कर ली है. हालांकि इससे पहले सबूतों के अभाव में भोपाल जिला अदालत द्वारा उन्‍हें बरी किया गया था.

  • Share this:
जबलपुर. बॉलीवुड एक्‍ट्रेस मोनिका बेदी (Monica Bedi) के फर्जी पासपोर्ट मामले (Fake Passport Case) में जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur High Court) ने सुनवाई पूरी कर ली है. मामले पर 12 साल के लम्बे वक्त तक चली सुनवाई पूरी करते हुए हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है, जिसे अब आने वाले दिनों में सुनाया जा सकता है. बता दें कि मोनिका बेदी पर आरोप है कि उन्होंने अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम (Abu Salem)  की मदद से भोपाल में अपना फर्जी पासपोर्ट बनवाया था, जिसमें उनका नाम फौजिया उस्मान दर्ज था.

भोपाल जिला कोर्ट ने किया था बरी
मामले पर भोपाल जिला अदालत ने साल 2006 में मोनिका बेदी को बरी कर दिया था, जिसके बाद राज्य सरकार ने साल 2007 में निचली अदालत के फैसले को जबलपुर हाईकोर्ट में चुनौती दे दी थी. ऐसे में हाईकोर्ट में राज्य सरकार की ये पुनर्विचार याचिका बीते 12 सालों से लम्बित थी. इतने लंबे वक्त तक चली सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की ओर से मोनिका बेदी पर कार्रवाई की मांग की गई. जबकि मोनिका की ओर से उन्हें बेकसूर बताकर दावा किया गया कि उनके खिलाफ जांच एजेंसी के पास कोई पुख्ता सबूत नहीं है. हालांकि सबूतों के अभाव में ही उन्हें भोपाल जिला अदालत द्वारा बरी किया गया था.

बहरहाल, जबलपुर हाईकोर्ट ने मामले पर अपनी सुनवाई पूरी करते हुए अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.
ये भी पढ़ें-


केंद्र से राहत पाने के लिए 'उपवास सत्‍याग्रह' करेगी कमलनाथ सरकार

MP सरकार 59 करोड़ में खरीदेगी नया 7 सीटर प्लेन, कैबिनेट मीटिंग में हुए ये फैसले
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज