अपना शहर चुनें

States

JABALPUR : शिवराज सरकार को बर्खास्त करने वाली याचिका हाईकोर्ट ने की खारिज

MP NEWS : याचिका छिंदवाड़ा की एक वकील ने लगायी थी.
MP NEWS : याचिका छिंदवाड़ा की एक वकील ने लगायी थी.

Jabalpur : सरकार ने अपने जवाब में कहा था कि जिन 14 विधायकों (MLA) के खिलाफ यह याचिका दायर की गई है उन्होंने फिर से उपचुनाव (By election) में जीत हासिल कर ली है और मंत्री बन गए हैं.

  • Share this:
जबलपुर.शिवराज सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur HC) से बड़ी राहत मिल गयी है.कोर्ट ने कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए विधायकों को मंत्री बनाने के ख़िलाफ़ दायर याचिका ख़ारिज कर दी है. याचिका में सरकार को बर्खास्त करने की मांग की गयी थी.ये याचिका छिंदवाड़ा की एक वकील आराधना भार्गव ने दायर की थी. इसमें उन्होंने दल बदल कर सरकार बनाने का आरोप लगाया था और विधायक पद छोड़ चुके उम्मीदवारों को मंत्री बनाने पर भी सवाल उठाए थे.

कोर्ट ने इस पर कहा-वर्तमान में सभी विधायक पुनः चुनाव लड़ चुके हैं और कई मंत्री पद पर हैं इसलिए ऐसे में अब याचिका पर सुनवाई औचित्यहीन है.

मध्यप्रदेश की सियासत में हुई उथल-पुथल में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए विधायकों को मंत्री पद दिए जाने के खिलाफ दायर की गई याचिका को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है. हाईकोर्ट ने याचिका को वर्तमान परिदृश्य में देखते हुए औचित्य हीन पाया और याचिका को खारिज कर दिया.छिंदवाड़ा निवासी अधिवक्ता आराधना भार्गव की ओर से दायर की गई इस याचिका में कहा गया था कि कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए विधायकों को मंत्री पद दे दिया गया, जो कि संविधान के अनुरूप नहीं था. याचिका में दल बदल कर सरकार बनाने का आरोप लगाया गया था.विधायक पद छोड़ चुके उम्मीदवारों को मंत्री बनाने पर भी सवाल उठाए गए थे और मांग की गई थी कि सरकार को बर्खास्त किया जाए.

सरकार को नोटिस


इस मामले पर हाईकोर्ट ने पूर्व में सरकार को नोटिस जारी किया था. सरकार ने अपने जवाब में कहा था कि जिन 14 विधायकों के खिलाफ यह याचिका दायर की गई है उन्होंने फिर से उपचुनाव में जीत हासिल कर ली है और मंत्री बन गए हैं. लिहाजा अब इन हालातों में इस याचिका का कोई आधार नहीं रह जाता. हाईकोर्ट ने भी सरकार के इस तर्क को माना और याचिका को औचित्य हीन पाते हुए खारिज कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज