• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Jabalpur : 9 अगस्त से अदालतों में लौटेगी चहल-पहल, हाईकोर्ट में शुरू होगी फिजिकल हियरिंग

Jabalpur : 9 अगस्त से अदालतों में लौटेगी चहल-पहल, हाईकोर्ट में शुरू होगी फिजिकल हियरिंग

मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक की अध्यक्षता में आयोजित हुई संयुक्त बैठक में 9 अगस्त से मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की अलग-अलग पीठों में फिजिकल हियरिंग शुरू करने का फैसला लिया गया है

मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक की अध्यक्षता में आयोजित हुई संयुक्त बैठक में 9 अगस्त से मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की अलग-अलग पीठों में फिजिकल हियरिंग शुरू करने का फैसला लिया गया है

फिजिकल हियररिंग के विकल्प खुल जाने से अब फिजिकल और वर्चुअल दोनों ही तरीकों से पक्षकार या अधिवक्ता सुनवाई में शामिल हो सकेंगे. यह विकल्प खुद अधिवक्ता या पक्षकार को चुनना होगा कि वह फिजिकल तरीके से या वर्चुअल तरीके से सुनवाई करना चाहते हैं. यानि वो ऑनलाइन तरीके से घर बैठकर सुनवाई करेंगे या फिर कोर्ट में पेश होंगे.

  • Share this:

जबलपुर. मध्य प्रदेश (MP) हाई कोर्ट (High Court) की मुख्य पीठ जबलपुर सहित इंदौर और ग्वालियर खंडपीठ में 9 अगस्त से एक बार फिर फिजिकल हियरिंग की शुरुआत हो जाएगी. चीफ जस्टिस मोहम्मद रफीक की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है.

मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक की अध्यक्षता में आयोजित हुई संयुक्त बैठक में 9 अगस्त से मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की अलग-अलग पीठों में फिजिकल हियरिंग शुरू करने का फैसला लिया गया है.

कोरोना की सेकेंड वेब के कारण लगभग 4 महीने से प्रदेश की अदालतें फिजिकल हियरिंग के लिए बंद थीं. सिर्फ वर्चुअल तरीके से ही मामलों की सुनवाई की जा रही थी. चीफ जस्टिस की अध्यक्षता में हुई बैठक में स्टेट बार काउंसिल जबलपुर, इंदौर और ग्वालियर के सदस्य, हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के पदाधिकारी वर्चुअल तरीके से शामिल हुए थे. इस संयुक्त बैठक में कोरोना की दूसरी लहर के बाद हाईकोर्ट में फिजिकल हियरिंग को फिर से शुरू करने का मुद्दा रखा गया. इस पर कमेटी ने सोमवार से हाईकोर्ट की मुख्य समेत अलग-अलग  खंडपीठों में फिजिकल हियरिंग की शुरुआत करने पर सहमति जताई.

वर्चुअल और फिजिकल हेयरिंग दोनों विकल्प खुले
अब कमेटी की अगली बैठक 27 अगस्त को होगी. इस पर हालातों की समीक्षा के आधार पर आगामी निर्णय लिए जाएंगे. फिजिकल हियररिंग के विकल्प खुल जाने से अब फिजिकल और वर्चुअल दोनों ही तरीकों से पक्षकार या अधिवक्ता सुनवाई में शामिल हो सकेंगे. यह विकल्प खुद अधिवक्ता या पक्षकार को चुनना होगा कि वह फिजिकल तरीके से या वर्चुअल तरीके से सुनवाई करना चाहते हैं. यानि वो ऑनलाइन तरीके से घर बैठकर सुनवाई करेंगे या फिर कोर्ट में पेश होंगे. कमेटी की अगली बैठक 27 अगस्त को होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज