खुलासा: जबलपुर के सिटी अस्पताल में 171 मरीजों को लगे 209 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन, 9 की मौत

जबलपुर:171 मरीजों को  209 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाए, गिरफ्तारी में खुलासा  (सांकेतिक फोटो)

जबलपुर:171 मरीजों को  209 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाए, गिरफ्तारी में खुलासा  (सांकेतिक फोटो)

जबलपुर के सिटी अस्पताल में भर्ती 171 मरीजों को 209 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगा दिए गए. यह बड़ा खुलासा जबलपुर पुलिस ने अपनी जांच में किया है. नकली इंजेक्शन लगने से नौ की मौत भी हुई है.

  • Share this:

जबलपुर. जबलपुर ( Jabalpur) की सिटी अस्पताल ( City Hospital) में भर्ती 171 मरीजों को 209 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन ( Remdesivir Injection ) लगा दिए गए. यह बड़ा खुलासा जबलपुर पुलिस ने अपनी जांच में किया है. नकली रेमडेसिविर के गुजरात कनेक्शन सामने आने के बाद इस बड़े गोरखधंधे में पुलिस के हाथ अहम सफलता लग गई है. पुलिस ने इसमें कई गिरफ्तारियां की हैं. जिसके बाद पुलिस को इसमें अहम सबूत हासिल हुए हैं.

पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने जानकारी देते हुए बताया कि पूरे मामले की जांच में अब तक स्पष्ट हुआ है कि 171 मरीजों को नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगे थे. इनमें प्राथमिक तौर पर करीब 9 मरीजों की मौत नकली रेमडेसिविर लगाए जाने से होना पाया गया है. अब तक सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा, उनकी पत्नी जसमीत मौखा अस्पताल की एडमिनिस्ट्रेटर सोनिया खत्री शुक्ला अस्पताल के मैनेजर देवेश चौरसिया और फार्मास्युटिकल डीलर सपन जैन को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है और वर्तमान में सभी जेल में बंद है.  इस बीच पुलिस ने कई अहम सबूत खंगाले हैं.

जांच में यह भी स्पष्ट हुआ है कि अलग-अलग जगहों पर करीब 200 नकली इंजेक्शन को खुर्द बुर्ज कर नष्ट भी किया गया था. जिसमें मौखा परिवार ने नौकरों का भी सहारा लिया. फिलहाल पुलिस सिटी अस्पताल के अकाउंटेंट को रडार में लेकर गहन पूछताछ कर रही है. पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि  अस्पताल के एकाउंटेंट ने ये बात कबूली है कि उसे सरबजीत सिंह मोखा ने नकली रेमडेसिविर से जुड़े लेजर रिपोर्ट को डिलीट करने के आदेश दिए थे. उम्मीद है कि आने वाले दिनों में मामले की तस्वीर और साफ होगी. वहीं आरोपियों की संख्या और भी बढ़ सकती है. सरबजीत सिंह मोखा के बेटे हरकरण मौखा की तलाश में दिल्ली इंदौर समेत देश के अन्य शहरों में टीम रवाना कर दी गई है. इसके साथ ही पुलिस अब मामले में धारा 304 भी बढ़ाने की तैयारी में है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज