Assembly Banner 2021

Jabalpur : कृषि कानूनों के खिलाफ हुंकार भरने मध्यप्रदेश आ रहे हैं किसान नेता राकेश टिकैत

राकेश टिकैत 14 मार्च को जबलपुर आ रहे हैं.

राकेश टिकैत 14 मार्च को जबलपुर आ रहे हैं.

Jabalpur. 15 मार्च को जबलपुर के सिहोरा क्षेत्र में किसान महापंचायत (Kisan maha panchayat) और ट्रैक्टर रैली का बड़ा कार्यक्रम रखा गया है.टिकैत उसमें शिरकत करेंगे.

  • Share this:
जबलपुर.दिल्ली में किसान आंदोलन (Kisan andolan) खड़ा करने वाले राकेश टिकैत अब मध्य प्रदेश का रुख कर रहे हैं.वो मध्य प्रदेश के दौरे पर आ रहे हैं.वो यहां सिहोरा में 15 तारीख को होने वाली किसान महापंचायत में शामिल होंगे.उनकी ये यात्रा मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन खड़ा करने से जोड़कर देखी जा रही है.

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर कई महीनों से आंदोलनरत किसानों का नेतृत्व कर रहे राकेश टिकैत अब मध्यप्रदेश में दस्तक देने जा रहे हैं.तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ हुंकार भरने राष्ट्रीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत 14 मार्च से मध्य प्रदेश के दौरे पर रहेंगे.इसके अगले दिन 15 मार्च को जबलपुर के सिहोरा क्षेत्र में किसान महापंचायत और ट्रैक्टर रैली का बड़ा कार्यक्रम रखा गया है.टिकैत उसमें शिरकत करेंगे.इस सिलसिले में मध्य प्रदेश किसान यूनियन ने प्रशासन से कार्यक्रम की परमिशन मांगी है जो अब तक नहीं मिली है.

50 हजार किसानों के आने का लक्ष्य
दर्जनों किसान संगठन इस कार्यक्रम की तैयारी में जुटे हुए हैं.उनका लक्ष्य है कि इस कार्यक्रम में 50000 किसान अपने अपने ट्रैक्टर लेकर पहुंचेंगे और तीनों नये कृषि कानून वापस लेने के लिए हुंकार भरी जाएगी.यूनियन पदाधिकारियों का कहना है भले ही अब तक अनुमति ना मिली हो लेकिन फिर भी वे हर हाल में आयोजन को करके रहेंगे.
आंदोलन की ओर इशारा


कृषि कानूनों के खिलाफ जारी आंदोलन को लेकर अब तक मध्य प्रदेश शांत राज्यों में गिना जाता है. बेशक पूरे प्रदेश से किसान दिल्ली के रवाना हुए. कई जगह प्रदर्शन भी हुए. लेकिन अब तक कोई बड़ा विरोध दर्ज नहीं किया गया.इस बीच कृषि कानूनों के लिहाज से शांत रहे मध्यप्रदेश में राकेश टिकैत की दस्तक किसी बड़े आंदोलन की ओर भी इशारा कर रही है.

टिकैत पर बरगलाने का आरोप
भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद राकेश सिंह का कहना है कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसान आंदोलन अब कमजोर पड़ गया है. इसलिए भड़काने और बर्गलाने के लिए राकेश टिकैत रैली और महापंचायत कर रहे हैं.वह इस मुगालते में ना रहें कि आम जनता को उनके महापंचायत या रैली से कोई सरोकार अब रह गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज