जब लेडी काॅस्टेबल को सबक सिखाने लैंड क्रूज़र से पहुंचे विधायक जी, देखें Video

दोनों पक्षों की ओर से अभी पुलिस में शिकायत नहीं पहुंची है.

दोनों पक्षों की ओर से अभी पुलिस में शिकायत नहीं पहुंची है.

Jabalpur : वीडियो में महिला प्रधान आरक्षक खुद खराब तरीके से बात कर रही है लेकिन विधायक से कह रही है कि ठीक से बात कीजिए. वो धमका रही है कि मैं आपके खिलाफ रिपोर्ट लिखवाऊंगी. प्रधान आरक्षक बार बार अपने महिला होने का हवाला देते हुए कह रही है कि एक महिला से ऐसे बात कर रहे हैं..

  • Share this:
जबलपुर. कोरोना काल में कभी मास्क (Mask) तो कभी मरीज़ों के नाम पर प्रदेश में माननीयों और सरकारी मुलाजिमों के बीच नोकझोंक के मामले थमते हुए नजर नहीं आ रहे हैं. पूर्व जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा और डॉक्टर के बीच विवाद का मामला थमा भी नहीं था कि अब पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट और जबलपुर में एक महिला प्रधान आरक्षक के बीच बहस का वीडियो सामने आ गया.

पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट का है यह वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो सोमवार यानि कल का बताया जा रहा है. इसमें गोराबाजार के पास बिलहरी चैकिंग पॉइंट पर पूर्व मंत्री और महिला प्रधान आरक्षक लक्ष्मी बेन के बीच बहस हो रही है. मास्क चैकिंग के दौरान की जा रही चालानी कार्रवाई को लेकर शुरू हुआ यह विवाद महिला प्रधान आरक्षक के साथ टीआई तक पहुंच गया. अपनी लग्जरी कार में सवार पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट की प्रधान आरक्षक से बहस का वीडियो मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने ही अपने कैमरे में कैद कर लिया. प्रधान आरक्षक लक्ष्मीबेन भी बिना किसी लिहाज के बदमिजाज़ी से जवाब दे रही है. भनौट एक विधायक और पूर्व मंत्री हैं. लेकिन प्रधान आरक्षक लगातार असभ्यता का परिचय देती रही. उनसे मुंह लड़ाती रही और उल्टा पूर्व मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करने की धमकी देती रही.

महिला आरक्षक ने लड़ाई ज़ुबान

वीडियो में महिला प्रधान आरक्षक खुद खराब तरीके से बात कर रही है लेकिन विधायक से कह रही है कि ठीक से बात कीजिए. वो धमका रही है कि मैं आपके खिलाफ रिपोर्ट लिखवाऊंगी. प्रधान आरक्षक बार बार अपने महिला होने का फायदा उठाते हुए कह रही है कि एक महिला से ऐसे बात कर रहे हैं.
Youtube Video

बदजुबान महिला आरक्षक

इस पर तरुण भनोट ने एसपी से शिकायत की बात कह डाली. यह बात कोरोना वॉरियर महिला प्रधान आरक्षक लक्ष्मी बैन को नागवार गुजरी और वो कहती सुनी गयी कि आप मेरी क्या शिकायत करोगे. आपके इस व्यवहार की मैं शिकायत करूंगी. वीडियो वायरल होने के बाद जब पुलिस अधीक्षक जबलपुर से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा इस संबंध में पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट और प्रधान आरक्षक लक्ष्मी बेन दोनों ओर से किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं मिली है. यदि कोई शिकायत आती है तो उस आधार पर आगे विचार किया जाएगा.





भाजपा नेता के साथ खड़े होकर अवैध वसूली- भनोत 

इस पूरे घटनाक्रम के बाद प्रधान आरक्षक लक्ष्मीबेन मीडिया के सामने नहीं आ रही है. वहीं पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट ने खुलकर अपनी बात रखी. उन्होंने आरोप लगाए कि पुलिसकर्मी लॉकडाउन के दौरान चैकिंग के नाम पर अवैध वसूली कर रहे हैं. बीजेपी नेता कार्यकर्ताओं के साथ खड़े होकर वसूली की जा रही है. भनोट ने खुलकर कहा यदि पुलिसकर्मी अपनी जिम्मेदारी के साथ वहां पर ड्यूटी कर रहे थे तो फिर बीजेपी नेता वहां क्यों मौजूद था. गले में किसी पार्टी विशेष का गमछा डाल कर खड़ा होना और फिर वहां से अवैध वसूली की शिकायत आना यह सब कुछ खुलकर वसूली की तस्वीर को उजागर करता है. तरुण भनोट का साफ कहना है कि बेकसूर जनता के साथ यदि इस तरह की अवैध वसूली की जाएगी तो वह चुप नहीं बैठेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज