जबलपुर: कोरोना संकट के बीच शादी की दावत, 50 की अनुमति, पहुंचे 400 मेहमान, दर्ज हुई FIR

जबलपुर में कोरोना संकट के बीच शादी समारोह में 400 लोग पहुंच गए दावत में. पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज की.

जबलपुर में कोरोना संकट के बीच शादी समारोह में 400 लोग पहुंच गए दावत में. पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज की.

जबलपुर में शुक्रवार को कोरोना संकट के बीच एक शादी समारोह में 400 लोग पहुंच गए. जबकि अनुमति केवल 50 लोगों की है. पुलिस को सूचना मिली तो मौके पर पहुंची पुलिस ने आयोजकों पर कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज की है.

  • Last Updated: May 1, 2021, 12:34 AM IST
  • Share this:
जबलपुर. मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते एक और जहां प्रतिबंध बढ़ रहे हैं तो वहीं कई लोग मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे. जबलपुर के हनुमान ताल इलाके में आज कुछ ऐसी ही तस्वीर सामने आई, जहां बकायदा 400 मेहमानों की दावत सजी. वधू पक्ष ने बकायदा मैदान में टेंट लगवाकर कर जश्न की तैयारी कर रखी थी. यह जश्न भी तब जब मोहल्ले के हर तीसरे घर मे कोई न कोई व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है. मेहमानों तो ऐसे सज धज के एक दूसरे से मिल रहे थे कि मानो कोरोना इनका कुछ नहीं बिगाड़ पायेगा.

सूबे के मुखिया ने खुद प्रदेश के लोगों से अपील की है कि वह वर्तमान में शादियों की तारीख को टाल दें. यदि बहुत ज्यादा जरूरी हो तो 10 लोगों के बीच में ही शादी समारोह का आयोजन किया जाए, लेकिन उसके बावजूद कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सीएम की इस अपील को ताक पर रख रहे हैं. ताजा मामला जबलपुर के हनुमानताल थाना क्षेत्र के अंतर्गत मथुरा सेठ की बाड़ी बड़ा मैदान मैं आयोजित एक शादी समारोह का है, जहां 50 लोगों की अनुमति के बावजूद 100 नहीं 200 नहीं. बल्कि 400 से ज्यादा मेहमानों को आमंत्रित किया गया. इस तस्वीर ने शादी की शहनाई के बीच खुलेआम कोरोना को दावत दे डाली.

जब पुलिस को मामले की सूचना लगी तो सीएसपी अखिलेश गौर टीम के साथ मौके पर पहुंचे और कार्रवाई की. मौके पर पहुंची पुलिस ने भीड़ देखी तो हैरान रह गये. पुलिस के अनुसार समारोह का आयोजन राजेश सोनकर नाम के व्यक्ति ने कराया था. उसकी दो बेटियों का एक साथ विवाह किया जा रहा था, लेकिन उसके द्वारा कार्यक्रम स्थल पर अनुमति की अवहेलना करने के साथ ही कोविड-19 प्रोटोकॉल की भी धज्जियां उड़ाई.

पुलिस ने कार्यक्रम आयोजक राजेश सोनकर सहित भोजक टेंट एंड कैटरर्स के खिलाफ धारा 188 आपदा प्रबंधन अधिनियम सहित तमाम अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की है. बता दें कि इस दौरान पुलिस ने कार्यक्रम स्थल को खाली कराया और अपनी मौजूदगी में ही वरमाला सहित शादी के फेरे भी करवाएं ताकि कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित किया जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज