Home /News /madhya-pradesh /

असम के बाद MP के इस शहर में बनेगा कामाख्या मंदिर, किन्नर समाज करेगा निर्माण, जानें खासियत

असम के बाद MP के इस शहर में बनेगा कामाख्या मंदिर, किन्नर समाज करेगा निर्माण, जानें खासियत

kamakhya mandir jabalpur: मध्य प्रदेश के जबलपुर में किन्नर सामाज करेगा कामाख्या मंदिर का निर्माण.

kamakhya mandir jabalpur: मध्य प्रदेश के जबलपुर में किन्नर सामाज करेगा कामाख्या मंदिर का निर्माण.

Jabalpur News: असम के बाद अब मध्य प्रदेश (MP News) के जबलपुर  में मां कामाख्या के मंदिर का निर्माण होगा. मंदिर का निर्माण किन्नर समाज द्वारा किया जाएगा. महामंडलेश्वर हेमांगी सखी (mahamandaleshwar hemangi sakhi maa) ने भूमिपूजन किया.

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. असम (Assam) के बाद अब मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर (Jabalpur) में मां कामाख्या का मंदिर (Kamakhya Temple) बनने जा रहा है. इस मंदिर का निर्माण किन्नार समाज द्वारा कराया जा रहा है. संस्कारधानी जबलपुर में जल्दी ही मां कामाख्या के मंदिर का निर्माण शुरू होगा. खास बात यह है कि इस मंदिर का निर्माण किन्नर समुदाय करेगा और मंदिर का भूमिपूजन भी देश की पहली किन्नर महामंडलेश्वर हेमांगी सखी (mahamandaleshwar hemangi sakhi maa) के हाथों से किया गया. किन्नर समाज के सदस्यों ने विधि विधान से पूजा कर मां कमाख्या से प्रार्थना की है कि मंदिर में आकर हर किसी का दुख दर्द दूर हो, उन्हें शांति मिले.

मां कमाख्या मंदिर के भूमि पूजन में जबलपुर पहुंची महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने कहा कि जबलपुर में किन्नर समाज द्वारा माता का मंदिर बनवाया जा रहा है. यह बहुत ही खुशी की बात है. उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए में तन-मन और धन से समर्पित हूं. मुझसे मंदिर-आश्रम के लिए जो बन पाएगा मैं करूंगी.

जानें मंदिर में क्या रहेगा खास

किन्नर समुदाय द्वारा निर्मित किए जा रहे इस मंदिर में  किन्नरों के लिए ओल्ड एज होम, स्कूल, हॉस्टल भी बनाया जाएगा. इसको लेकर केंद्रीय मंत्रियों से भी बात हुई है. वहीं किन्नर माही शुक्ला ने कहा कि हमारा समाज जो माता कामाख्या मंदिर बनवा रहा है. यह पूरी तरह से समाज के लिए समर्पित रहेगा. लोगों की खुशियों में नाच गाकर हम आशीर्वाद देते हैं. यह मंदिर भी सभी लोगों के लिए खुशियों के लिए बनवाया जा रहा है. माता के मंदिर में किन्नर समाज के लोग प्रार्थना करेंगे कि सभी लोग स्वस्थ और खुश रहें.

ये भी पढ़ें: CM अशोक गहलोत के नई टीम की पहली मीटिंग, जानें स्कूलों को लेकर क्या हुआ अहम फैसला

मंदिर में होगा ओल्ड एज होम
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मंदिर में लंगर की भी व्यवस्था होगी. मंदिर में ओल्ड एज होम भी बनाया जाएगा. इसमें किन्नर समाज के बुजुर्ग लोगों को रखा जाएगा. इसके साथ ही मंदिर में एक स्कूल भी होगा.

Tags: Jabalpur news, Mp news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर