EVM देर से जमा करने पर सुनवाई पूरी, हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला

खुरई विधानसभा सीट का था. ये क्षेत्र प्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह का निर्वाचन का है. यहां 48 EVM 48 घंटे बाद स्ट्रांग रूम में जमा की गयीं. ये वो मशीनें थीं जो रिजर्व में रखी गयी थीं.

Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 7, 2018, 2:48 PM IST
Prateek Mohan Awasthi | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 7, 2018, 2:48 PM IST
सागर में EVM जमा करने में गड़बड़ी और लेटलतीफी के मामले पर जबलपुर हाईकोर्ट में सुनवाई पूरी हो गयी है. कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है. कांग्रेस ने इस मामले में कोर्ट में याचिका लगायी थी.

मामला सागर ज़िले की खुरई विधानसभा सीट का था. ये क्षेत्र प्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह का निर्वाचन का है. यहां 48 EVM 48 घंटे बाद स्ट्रांग रूम में जमा की गयीं. ये वो मशीनें थीं जो रिजर्व में रखी गयी थीं. कांग्रेस ने इस पर गहरी आपत्ति जताते हुए EVM में गड़बड़ी की आशंका जताई थी. कांग्रेस इस मसले को जबलपुर हाईकोर्ट में ले गयी. यहां याचिका दायर कर उसने इस मामले की SIT से जांच कराने की मांग की थी.
आज इस मसले पर कोर्ट में सुनवाई हुई. इसमें निर्वाचन आयोग ने अपना पक्ष रखा. आयोग ने कहा जो EVM लेट आयीं उनका मतदान में इस्तेमाल नहीं किया गया था. इस केस में सागर, सतना, भोपाल ,शाजापुर, खंडवा जिले के कलेक्टर को पक्षकार बनाया था.
कांग्रेस की याचिका पर हाईकोर्ट ने आज सुनवाई पूरी कर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.

EVM देर से जमा करने के मसले पर कांग्रेस ने चुनाव आयोग में भी शिकायत की थी. उसके बाद आयोग ने मामले की जांच करायी और फिर खुऱई के रिटर्निंग ऑफिसर विकास सिंह को वहां से हटा दिया.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर