MP: कमलनाथ सरकार देगी प्रदेशवासियों को राहत, बजट से पहले वित्त मंत्री ने दी ये खुशखबरी

एमपी के वित्त मंत्री तरुण भनोत ने नए साल में कोई नया टैक्स नहीं लगाने का भरोसा दिया है.

नए साल की शुरुआत के साथ ही कमलनाथ (CM Kamalnath) सरकार ने प्रदेश का बजट (MP Budget) बनाने की शुरू की तैयारी. बिना जनता पर भार डाले आय बढ़ाने के प्रयास पर किया जा रहा विचार. वित्त मंत्री तरुण भनोत (Minister Tarun Bhanot) ने भरोसा दिलाया है कि नए साल में जनता को कोई नया टैक्स नहीं देना पड़ेगा.

  • Share this:
जबलपुर. साल 2020 की शुरुआत के साथ ही कमलनाथ (CM Kamalnath) सरकार नए वित्तीय वर्ष के बजट (MP Budget) की तैयारियों में जुट गई है. इस बीच प्रदेशवासियों के लिए एक राहत भरी खबर आई है. News 18 से खास बातचीत में प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भनोत (Minister Tarun Bhanot) ने बताया है कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में भी आम जनता के ऊपर किसी प्रकार के नए टैक्स (Tax) का बोझ नहीं पड़ेगा. बेशक नया साल सरकार के लिए वित्तीय दृष्टि से चुनौतीपूर्ण है, लेकिन आम जनता पर इसका कोई भार नहीं डाला जाएगा.

निवेश बढ़ाएंगे, ताकि न बढ़े टैक्स
वित्त मंत्री तरुण भनोत ने बताया कि प्रदेश की आय के संसाधन सीमित हो गए हैं. जीएसटी लागू हो जाने के बाद सरकार के आय के स्रोत बेहद कम हैं, बावजूद इसके पिछले वित्तीय वर्ष में सरकार ने बेहतर ढंग से काम किया. मुख्यमंत्री कमलनाथ के कुशल प्रबंधन से प्रदेश में निवेश भी आया है. नए वर्ष को लेकर भी यह प्रयास रहेगा कि अन्य संसाधनों से आय को बढ़ाया जाए और आम जनता पर कोई बोझ न बढ़े. वित्त मंत्री के मुताबिक मध्य प्रदेश निवेशकों के लिए आकर्षक डेस्टिनेशन बन गया है. वहीं सरकार का प्रयास भी है कि उद्योग स्थापित करने के लिए अच्छी से अच्छी सुविधाएं दी जाएं, ताकि निवेश के लिहाज से हॉट डेस्टिनेशन के रूप में मध्य प्रदेश विकसित हो सके.

भाजपा पर किया प्रहार
वित्त मंत्री ने इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के उस बयान पर भी पलटवार किया, जिसमें उन्होंने उद्योग के लिए स्थापित सिंगल विंडो सिस्टम को भ्रष्टाचार का सिस्टम करार दिया था. वित्त मंत्री तरुण भनोत ने कहा कि राकेश सिंह को प्रदेश सरकार पर हमलावर होने से बचना चाहिए. उन्हें केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर होना चाहिए. नए साल की शुरुआत के साथ ही एक और जहां घरेलू गैस सिलेंडर महंगे हो गए, वहीं प्रदेश में 15 साल का कुप्रबंधन प्रदेश की जनता के लिए घातक रहा. पैसों की बंदरबांट और दुरुपयोग से 15 साल बीता है. नैतिकता के आधार पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को इस तरीके के बयान नहीं देना चाहिए.

ये भी पढ़ें -
व्यापम घोटाले ने पुलिस भर्ती पर लगाया ब्रेक : दो साल से नहीं हुईं नयी नियुक्ति, 22 हजार पद खाली
हनुवंतिया जल महोत्सव : सैलानी यहां लेंगे ज़मीन-पानी और हवा में रोमांच का मज़ा

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.