Zomato विवाद: ऑर्डर कैंसल करने वाले अमित शुक्‍ला के खिलाफ पुलिस ने लिया एक्शन

पुलिस ने डिलिवरी लेने से इनकार करने वाले शख्‍स अमित शुक्‍ला को लिखित शपथ पत्र देने को कहा है. जिससे वह धार्मिक नफरत का प्रसार न कर सके.

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 6:06 AM IST
Zomato विवाद: ऑर्डर कैंसल करने वाले अमित शुक्‍ला के खिलाफ पुलिस ने लिया एक्शन
पुलिस ने डिलिवरी लेने से इनकार करने वाले शख्‍स अमित शुक्‍ला को लिखित शपथ पत्र देने को कहा है. जिससे वह धार्मिक नफरत का प्रसार न कर सके.
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 6:06 AM IST
ऑनलाइन फूड सर्विस वेबसाइट जोमैटो (Zomato) इन दिनों सुर्ख‍ियों में बनी हुई है. दरअसल, गैर-हिंदू डिलिवरी बॉय से खाना लेने से इनकार करने वाले मध्‍य प्रदेश के जबलपुर निवासी के खिलाफ पुलिस ने एहतियातन कार्रवाई शुरू कर दी है.

पुलिस ने डिलिवरी लेने से इनकार करने वाले शख्‍स अमित शुक्‍ला को लिखित शपथ पत्र देने को कहा है. जिससे वह धार्मिक नफरत का प्रसार न कर सके. ये मामला सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. कुछ लोग जोमैटो के पक्ष में, तो कुछ इसके विरोध में उतर आए हैं.

खाने का कोई धर्म नहीं

दरअसल, कुछ दिन पहले जबलपुर निवासी अमित शुक्‍ला ने 'गैर हिंदू' डिलिवरी बॉय से अपना खाना लेने से इनकार कर दिया था. यूजर को लगा कि ऐप, उनके पैसे रिफंड करेगा. लेकिन, ऐसा नहीं हुआ. यूजर अमित शुक्‍ला ने इस मामले को लेकर एक ट्वीट किया. उसके जवाब में जोमैटो ने लिखा, 'खाने का कोई धर्म नहीं होता. खाना खुद एक धर्म है.' इसके बाद ट्विटर पर कुछ लोग जोमैटो के समर्थन में उतर आए, तो कुछ उसका विरोध करने लगे.



कुछ यूजर्स ने विरोध में किया पोस्‍ट

वहीं, कुछ लोगों ने जोमैटो के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्‍ट किया, 'हलाल मीट की मांग करने वाले यूजर्स को ऐप अच्‍छी प्रतिक्रिया देता है और उनकी मांग को मानता भी है.' कुछ यूजर्स ने ट्विटर पर स्‍क्रीनशॉट भी शेयर किए, जिनमें जोमैटो ने नॉन हलाल मीट सर्व करने पर कस्‍टमर्स से माफी मांगी थी. गूगल प्‍ले और ऐपल ऐप स्‍टोर पर कई यूजर जोमैटो को एक स्‍टार रेटिंग दे रहे हैं. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर BoycottZomato के साथ इस ऐप का बहिष्‍कार करने की मुहिम भी चलाई जा रही है.
Loading...

जोमैटो दे दिया जवाब

जोमैटो ने अपने ऑफिशयल ट्विटर हैंडल पर बयान जारी किया. जोमैटो ने लिखा, ''हलाल मीट' टैग रेस्‍तरां की ओर से लगाया गया है. ये टैग ऐप का नहीं है. रेस्‍तरां हलाल टैग का यूज खुद को अलग दिखाने के लिए करते हैं, ना कि जोमैटो को अलग दिखाने के लिए ऐसा किया जाता है.'

ये भी पढ़ें: खाने, हलाल और धर्म के बीच फंसा Zomato, दी 'हलाल टैग' पर सफाई

हम केवल जानकारी देते हैं: जोमैटो
जोमैटो ने ट्वीट किया, 'हम केवल कस्‍टमर को जानकारी देते हैं ताकि वे आसानी से अपनी पसंद चुन सकेें. एक ग्रुप के तौर पर ये जरूरी हो जाता है कि हम कस्‍टमर्स को अलग-अलग विकल्‍प दिखाएं. जिससे कस्‍टमर्स अपनी पसंद चुन सकें.

ये भी पढ़ें: डिलीवरी बॉय को धर्म पूछकर लौटाया, तो Zomato ने दिया ये जवाब
First published: August 2, 2019, 5:12 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...